विदेश मंत्री ने कुवैत के साथ कई समझौतों पर किए हस्ताक्षर, अब भारतीय कामगारों को मिलेगा कानूनी संरक्षण

नई दिल्ली। भारत ने कुवैत सरकार के साथ एक अहम समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके बाद भारतीय कामगारों को कुवैत में कानूनी संरक्षण मिलेगा। केंद्रीय विदेश मंत्री के रूप में पहली बार कुवैत पहुंचे एस जयशंकर ने गुरुवार को कुवैत के विदेशमंत्री शेख अहमद नसीर अल मोहम्मद अल सबाह के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। दोनों देशों के बीच स्वास्थ्य, शिक्षा, खाद्य, ऊर्जा, डिजिटल और व्यापार के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा हुई। विदेश मंत्री जयशंकर ने कुवैत के पीएम शेख सबाह खालिद अल-हमाद अल-सबाह से भी बातचीत की।

समझौते के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट करके कहा कि भारतीय समुदाय के मुद्दों को सुलझाने में कुवैत के खुलेपन की हम सराहना करते हैं। इस समझौते से हमारे कामगारों को कुवैत में अधिक कानूनी संरक्षण मिलेगा। कुवैत में करीब 10 लाख भारतीय रहते हैं। विदेशमंत्री के साथ बातचीत के दौरान कुवैत के वाणिज्य मंत्री डॉ अब्दुल्ला इसा अल सलमान भी मौजूद रहे। दोनों देशों के बीच इन मुद्दों पर संयुक्त आयोग की बैठक आयोजित करने पर चर्चा हुई।

Gyan Dairy

इसके साथ ही विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कुवैत के पीएम शेख सबाह खालिद अल हमाद अल सबाह से भी बात की। उन्होंने दोनों देशों के की साझेदारी को नई ऊंचाइयों तक ले जाने की प्रतिबद्धताओं की सराहना की। भातर और कुवैत के बीच राजनयिक संबंधों के 60 वर्ष होने पर जयशंकर बतौर विदेश मंत्री अपनी पहली कुवैत यात्रा पर पहुुंचे हैं। कुवैत के कार्यवाहक सहायक विदेशमंत्री अब्दुल रज्जाक अल खलीफा और राजदूत जासीम अल नजीम ने हवाईअड्डे पर उनका स्वागत किया।

Share