जार्ज बुश बोले -अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी गलत फैसला

बर्लिन। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी के फैसले को गलत बताया दिया है। जॉर्ज बुश ने कहा कि अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी के बाद वहां के नागरिकों को तालिबान के हाथों मरने के लिए छोड़ दिया गया है। एक जर्मन चैनल से बात करते हुए जार्ज बुश ने कहा कि ‘अफगानिस्तान की महिलाएं और लड़कियां बेइंतहां दर्द से गुजर रही हैं। अब उन्हें क्रूर तालिबानियों के हाथों मरने के लिए छोड़ दिया गया है। इस निणर्य से मेरा दिल बुरी तरह से टूट रहा है।’

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के प्रशासन ने साल 2001 में अमेरिका और सहयोगी देशों की सेनाएं अफगानिस्तान भेजने का फैसला लिया था। यह निर्णय 11 सितंबर, 2001 को अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए आतंकी हमले के बाद यह फैसला लिया गया था। जॉर्ज बुश ने कहा कि मेरा मानना है कि अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी गलत है।

बता दें कि दो दशक के लंबे दौर के बाद इसी साल मई से अमेरिकी सेनाओं ने अफगानिस्तान से अपनी वापसी शुरू की है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने 11 सितंबर तक अपने सभी सैनिकों को अफगानिस्तान से वापस बुलाने का फैसला लिया है। अमेरिका के 2,500 और नाटो के 7,500 सैनिकों की मौजूदगी अब तक अफगानिस्तान में थी, जिन्हें अब वापस बुलाया जा रहा है। इस बीच तालिबान ने सीमांत इलाकों समेत देश के बड़े हिस्से पर अब तालिबान ने कब्जा जमा लिया है।

Gyan Dairy

 

Share