महिलाओं और एशियाई मूल के कर्मियों को सैलरी-जॉब देने में गूगल ने किया भेदभाव,  जानें पूरा मामला

कैलिफोर्निया। कैलिफोर्निया और वॉशिंगटन में महिला इंजीनियरों और एशियाई मूल के लोगों के साथ भेदभाव करने के आरोपों का निबटारा करने के एवज में गूगल 5,500 से अधिक कर्मचारियों और नौकरी के लिए आवेदन करने वाले लोगों को 26 लाख डॉलर यानी करीब 19 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान करेगी। इस समझौते की घोषणा सोमवार को की गई। इसके साथ ही चार साल पुराना वह मामला भी बंद हो जाएगा जो श्रम विभाग ने गूगल जैसी संघीय सरकारी ठेकेदार कंपनियों के भुगतान के तौर तरीकों की समय-समय पर समीक्षा के दौरान शुरू किया था। आरोप था कि गूगल ने साल 2014 से 2017 के बीच महिला इंजीनियरों को समान पद पर काम कर रहे पुरूष इंजीनियरों की तुलना में कम वेतन दिया। इन आरोपों के बाद मामले की जांच शुरू की गई थी।

वेतन में गैरबराबरी गूगल के कई दफ्तरों में पाई गई थी जिनमें कैलिफोर्निया, सिएटल और किर्कलैंड तथा वॉशिंगटन जैसे कार्यालय शामिल थे। गूगल ने इन आरोपों को निराधार बताते हुए इनसे इनकार किया था। गूगल की ओर से सोमवार को कहा गया, ‘हमारा मानना है कि हर किसी को उसके काम के आधार पर भुगतान किया जाना चाहिए, इस आधार पर नहीं कि वे कौन हैं। हम अपनी नियुक्ति प्रक्रिया और मुआवजा प्रक्रिया को निष्पक्ष बनाने के लिए भारी निवेश करते हैं।’

Gyan Dairy

 

Share