आईएस के गढ़ मोसूल में रासायनिक हमला!

इराक में इस्लामिक स्टेट के गढ़ मोसूल में संभवत: पहली बार हमले में रासायनिक हथियार का इस्तेमाल किया गया है। इरबिल में मौजूद अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस के एक डॉक्टर ने से इस घटना की पुष्टि की है। इस हमले में कम से कम 12 लोग घायल हुए हैं जिनमें दो की हालात गंभीर बताई गई हैं।

इस हमले में एक 11 साल का लड़का गंभीर रुप से सांस लेने और त्वचा की बीमारियों से पीड़ित है जबकि एक माह का बच्चा भी घायल हुआ है। इस डॉक्टर का कहना है कि हमले में जिस पदार्थ का इस्तेमाल किया गया, उसका अभी तक पता नहीं चला है, लेकिन इलाज रासायनिक हमले से पीड़ित के रूप में किया जा रहा है।

पीड़ित दो अलग-अलग घटनाओं के हैं, जब पूर्वी मोसूल में मोर्टार ने घरों को निशाना बनाया। पीड़ितों का कहना है कि उन्हें किसी रसायन की बू महसूस हुई। रेडक्रॉस के मध्य पूर्व निदेशक रॉबर्ट मारदिनी ने बताया कि पीड़ित छाले, लाल आँखें, जलन, उल्टी और खाँसी से पीड़ित थे। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल प्रतिबंधित है। हमले के लिए कौन ज़िम्मेदार है, अभी तक पता नहीं चला है।

Gyan Dairy

 

Share