पाकिस्तान में हिंदू लड़की का अपहरण करके जबरन कबुलवाया इस्लाम, फिर पुलिसवाले ने की शादी

सिंध। पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के साथ अत्चायार थमने का नाम नहीं ले रहे है। पाकिस्तान में हिंदुओं की बहू बेटियों की इज्जत के साथ खुलेआम खिलवाड़ हो रहा है और इमरान सरकार कान में तेल डालकर बैठी हुई है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक पुलिसवाले ने नाबालिग हिंदू लड़की को अगवा कर लिया। पुलिसवाले ने लड़की को अगवा करके जबरन उससे इस्लाम कबूल करवाया और फिर शादी कर ली। नाबालिग लड़की का नाम नीना कुमारी बताया जा रहा है।

सिंध प्रांत के नौशहरो जिले में रहने वाले रमेश लाल की बेटी नीना कुमार अभी नाबालिग है। नीना को गुलाम मरूफ कादरी नामक पुलिसवाले अगवा कर लिया। इस पुलिसवाले को सिंध में रहने वाले अल्पसंख्यकों की सुरक्षा ड्यूटी में लगाया गया था। सिंध के एक हिंदू नेता ने बताया कि नीना पिछले पांच दिनों से लापता थी। जब नीना स्कूल से नहीं लौटी तभी उसके परिवार ने उसे खोजने की कोशिश की। इस दौरान उन्हें बेटी के अपहरण के बारे में पता चला।

Gyan Dairy

ऑल पाकिस्तान हिंदू पंचायत के मुताबिक, कादरी ने 11 फरवरी को एक दरगाह पर नीना से जबरन इस्लाम कबुलवाया और निकाह से पहले उसका नाम बदल कर मारिया कर दिया। उसने कराची ले जाकर नीना से निकाह किया। मैरिज सर्टिफिकेट पर सिर्फ पुलिसवाले की जन्मतिथि लिखी है और नीना को 19 साल का बताया है, जबकि नीना के परिवार का दावा है कि वह नाबालिग है। हिंदू नेताओं का कहना है कि ‘इस मामले के बाद हम उन पुलिसवालों पर भी भरोसा नहीं कर सकते हैं।

Share