46वें राष्ट्रपति पद के लिए जो बाइडेन और कमला हैरिस आज लेंगे शपथ ग्रहण, जानें तैयारियां

वॉशिंगटन। अमेरिका में 46वें राष्ट्रपति पद के लिए आज जो बाइडन शपथ ग्रहण करेगें। जिसे इनॉगरेशन समारोह कहा जाता है। इसके पूरा होते ही राष्ट्रपति के कार्यकाल की शुरुआत हो जाती है। भारतीय समयानुसार बुधवार रात करीब साढ़े 10 बजे जो बाइडेन और कमला हैरिस शपथ लेंगे। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहले यह कह चुके हैं कि वह शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएंगे। अमेरिका में 152 साल बाद ऐसा होने जा रहा है लेकिन जो बाइडेन का शपथग्रहण समारोह कई और कारणों से भी अलग होने जा रहा है। कमला हैरिस आज अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेंगी।

इसके अलावा वह पहली अश्वेत उपराष्ट्रपति भी होंगी। समारोह में राष्ट्रगान पॉप स्टार लेडी गाना गाएंगी तो वहीं जेनिफर लोपेज भी अपनी प्रस्तुति से लोगों का दिल जीतेगी। वॉशिंगटन की कैपिटल बिल्डिंग में दो हफ्ते पहले हुई भीषण हिंसा के बाद अमेरिका की राजधानी को किले में तब्दील कर दिया गया है। पूरे शहर में 25 हजार नेशनल गार्डों की तैनाती की गई है जो कि इराक और अफगानिस्तान में फिलहाल मौजूद अमेरिकी सैनिकों की संख्या से पांच गुना ज्यादा है। शपथग्रहण के दौरान वॉशिंगटन में इमरजेंसी लागू रहेगी। नेशनल गार्ड के जवान ऑटोमैटिक हथियारों से लैस होते हैं जो किसी भी खतरे को ना करने की अद्भुत क्षमता रखते हैं। इस दौरान आम नागरिकों के लिए सभी चेकपॉइंट्स बंद कर दिए गए हैं।

Gyan Dairy

राष्ट्रपति का शपथग्रहण समारोह देखने के लिए लोग नेशनल मॉल में इकट्ठा होते हैं लेकिन इस बार यहां प्रवेश रोक दिया गया है। हालांकि, इसकी वजह अमेरिका में हुई हिंसा के साथ ही कोरोना महामारी का कहर भी है। साल 2009 में यहां से 18 लोगों ने बराक ओबामा के राष्ट्रपति शपथग्रहण समारोह लाइव देखा था। इसके साथ ही कैपिटल हिल को 7 फीट ऊंची फेंसिंग से घेरा गया है। आस-पास की सड़कों को बंद कर दिया गया है। शपथग्रहण समारोह में सिर्फ मेहमानों की ही आवाजाही होगी। इस बार यूएस कैपिटल से वाइट हाउस तक होने वाली परेड भी लोगों को नजर नहीं आएगी। इसकी जगह वर्चुअल परेड होगी जिसे ‘परेड अक्रॉस अमेरिका‘ कहा जा रहा है। इस बार ज्यादा सितारे परफॉर्म नहीं करेंगे। जो बाइडेन संविधान के मुताबिक 35 शब्दों में देश के राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे

Share