चीन के लिए आफत बनकर आई सोमवार की सुबह, जानें वजह

बीजिंग। पूरी दुनिया को कोरोना वायरस का जख्म देने वाले चीन के लिए सोमवार की सुबह किसी आफत से हम नहीं थी। राजधानी बीजिंग का आसमान सोमवार की सुबह-सबह पीला पड़ गया। बीजिंग में रेतीले तूफान की वजह से हर जगह धूल भरी आंधी ही नजर आ रही थी। इसके अलावा, चीन के पड़ोसी देश मंगोलिया में भी रेतीला तूफान आया था।

चीन की राजधानी बीजिंग में आए रेत के तूफान की वजह से 400 फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया गया है। चीन में इसे दशक का सबसे भयंकर रेतीला तूफान बताया जा रहा है। चीन के मौसम विभाग ने बताया कि रेत और धूल के कारण उत्तर-पश्चिम में शिनजियांग से लेकर उत्तर-पूर्व में हेइलोंगजियांग और तियानजिन के पूर्वी तटीय बंदरगाह शहर तक 12 प्रांत और क्षेत्र प्रभावित होंगे। केंद्र ने अपनी वेबसाइट पर एक पोस्ट में कहा, “यह सबसे गहन रेतीला तूफान है, जिसे हमारे देश ने 10 वर्षों में पहली बार देखा है, साथ ही साथ यह व्यापक क्षेत्र को कवर करता है।”

बीजिंग का अधिकारिक एयर क्वालिटी इंडक्स रेतीले तूफान की वजह से 500 के स्तर पर पहुंच गया। कुछ जिलों में पीएम10 के रूप में पहचाने जाने वाले पार्टिकल्स 2,000 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर तक पहुंच गए। हालांकि, चीन के मौसम विभाग ने इस बात की जानकारी दी थी। मौसम विभाग प्रशासन ने सोमवार सुबह एक पीले अलर्ट की घोषणा करते हुए कहा कि यह सैंडस्टॉर्म इनर मंगोलिया से गांसु, शांक्सी और हेबै के प्रांतों में फैल जाएंगे।

Gyan Dairy

चीन के पड़ोसी देश मंगोलिया में भी डस्ट स्टोर्म ने खूब आतंक मचाया। इसकी वजह से एक बच्चे समेत छह लोगों की मौत हो गई। देश के इमरजेंसी मैनेजमेंट डिपार्टमेंट ने एक बयान में बताया कि विभाग को 548 लोगों के नौ प्रांत से लापता होने की जानकारी मिली। ये सभी लोग शनिवार रात से लेकर सोमवार सुबह तक के बीच में गायब हुए थे।

Share