अफगानिस्तान में घुसे 6000 से अधिक पाकिस्तानी आतंकी, संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में दावा

काबुल। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान के अफगानिस्तान में दहशतगर्दी फैला रहे तालिबान के साथ संबंध हैं। तहरीक-ए-तालिबान के लगभग 6,000 लड़ाके अफगानिस्तान में मौजूद हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यूएन एनालिटिकल सपोर्ट एंड सेंक्शन मॉनिटरिंग टीम की 28वीं रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अफगानिस्तान में विभिन्न देशों और आतंकवादी समूहों के आतंकवादी सक्रिय हैं।

यूएन रिपोर्ट में दावा किेया गया है कि “निगरानी दल का अनुमान है कि विदेशी आतंकवादी लड़ाकों की संख्या लगभग 8,000 और 10,000 के बीच होगी, जिसमें मुख्य रूप से मध्य एशिया, रूसी संघ के उत्तरी काकेशस क्षेत्र, पाकिस्तान और चीन के झिंजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र के लड़ाके शामिल हैं।” डॉन की खबर के में संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान नंगरहार प्रांत के पूर्वी जिलों में पाकिस्तान की सीमा के पास स्थित है।

Gyan Dairy

बता दें कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के साथ ही तालिबान अफगान सुरक्षा बलों पर भारी पड़ रहे हैं। कंधार के अपने पूर्व गढ़ के साथ ही तालिबान ने एक तिहाई जिलों पर कब्जा करने का दावा किया है। बुधवार को, तालिबान ने पाकिस्तान के साथ अफगानिस्तान के प्रमुख सीमा क्रॉसिंग में से एक पर कब्जा कर लिया। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, यह उन सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्यों में से एक है जिसे तालिबान ने अब तक देश भर में तेजी से आगे बढ़ने के दौरान हासिल किया है।

Share