पाकिस्तान में अदालत के अंदर हुई हत्या, इस्लाम के अपमान का था मामला

नई दिल्ली: पाकिस्तान में उस वक्त हड़कंप मच गया जब अदालत के अंदर ही एक शख्श की हत्या कर दी गयी। बताया जा रहा है कि जिस व्यक्ति की हत्या हुई है उसपर इस्लाम के अपमान का मामला चल रहा था।

पेशावर में बुधवार को एक युवक ने इस घटना को अंजाम दिया। हमलावर खालिद खान किस तरह पुख्ता सुरक्षा के बीच कोर्ट के अंदर दाखिल होने में कामयाब रहा यह अभी स्पष्ट नहीं है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधिकारी अजमत खान के मुताबिक, ईशनिंदा को लेकर ट्रायल का सामना कर रहे ताहिर शमीम अहमद ने 2 साल पहले दावा किया था कि वह इस्लाम का पैगंबर है। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था और ईशनिंदा कानून के तहत उसके खिलाफ मुकदमा चल रहा था। हमले के बाद हॉस्पिटल पहुंचाए जाने से पहले शमीम ने दम तोड़ दिया।

Gyan Dairy

ईशनिंदा पाकिस्तान में बेहद ही विवादित मुद्दा है, जहां इस अपराध के दोषी पाए जाने वाले लोगों को उम्र कैद या मौत की सजा दी जाती है। लेकिन अक्सर कोई कट्टरपंथी या भीड़ द्वारा कानून को हाथ में लिए जाने के मामले सामने आते हैं। अक्सर इस आरोप की वजह से दंगे होने लगते हैं।

घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संगठनों ने कहा है कि अक्सर ईशनिंदा का आरोप लगाकर अल्पसंख्यकों पर जुल्म किए जाते हैं और कई बार निजी दुश्मनी की वजह से भी किसी पर इस तरह के आरोप जड़ दिए जाते हैं। 2011 में पंजाब के गवर्नर की उनके गार्ड ने ही हत्या कर दी थी, क्योंकि वह ईशनिंदा की आरोपी ईसाई महिला आशिया बीबी का बचाव कर रहे थे। 8 सालों तक जेल में रहने के बाद उसे रिहा किया गया। लेकिन कट्टरपंथियों की धमकी के बाद वह पिछले साल कनाडा चली गईं।

Share