म्यांमार: सैन्य तख्तापलट के बाद CM समेत के 9 हजार से ज्यादा नागरिकों ने ली मिजोरम में शरण, जानें वजह

नई दिल्ली। पड़ोसी देश म्यामांर में चार माह पहले सेना ने तख्तापलट करके लोकतांत्रिक सरकार को बर्खास्त कर दिया। इसके बाद वहां लोकतंत्र समर्थक अपनी जान बचाने के लिए दूसरे देशों में शरण लेने लगे। म्यामांर के चिन प्रांत के मुख्यमंत्री सलाई लियान लुआइ समेत 9 हजार 247 लोगों ने वहां से भागकर मिजोरम में शरण ली है। ‘चिन प्रांत के मुख्यमंत्री अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करके सोमवार की रात मिजोरम के चंफाई शहर में पहुंचे।

मिजोरम पुलिस का दावा है कि सीएम सलाई लियान लुआई समेत आंग सान सू ची की पार्टी नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी के 24 निर्वाचित प्रतिनिधियों ने भी मिजोरम में शरण ले रखी है। बता दें कि म्यांमार का पश्चिमी प्रांत चिन मिजोरम से सटा है। म्यांमार के इन नागरिकों को स्थानीय लोगों ने आश्रय दिया है। कई संगठन उनके रहने एवं खाने-पीने का प्रबंध कर रहे हैं। राज्य में जिन लोगों ने शरण ली है वे चिन समुदाय से हैं। चिन समुदाय जो के नाम से भी जाना जाता है। उनका मिजोरम के मिजो समुदाय के साथ पूर्वजों का रिश्ता है।

मिजोरम पुलिस के अनुसार राज्य के दस जिलों में म्यांमार के कम से कम 9 हजार 247 लोग ठहरे हुए हैं। इनमें से सबसे अधिक 4156 चंफाई में हैं। इसी बीच, असम राइफल्स के सूत्रों ने बताया कि कई मौकों पर म्यांमार के नागरिकों द्वारा अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने की कोशिश की जा रही है।

Gyan Dairy

 

Share