म्‍यांमार: लोकतंत्र समर्थकों और सेना के बीच संघर्ष, गुस्साए सैनिकों ने पूरे गांव को किया आग के हवाले

यंगून। म्यांमार में सैन्यशासन के खिलाफ लोकतंत्र समर्थकों का विरोध थम नहीं रहा है। अब मध्य म्यांमार में सुरक्षा बलों ने लोकतंत्र समर्थकों के साथ हुए संघर्ष में दो लोगों की मौत हो गई। इसके बाद सुरक्षा बलों ने पूरे गांव को जलाकर राख कर दिया। बताया जा रहा है कि सुरक्षा बलों ने किन मा गांव के करीब 240 घर जला दिए। सैन्य शासन का विरोध कर रहे स्थानीय छापामारों के साथ संघर्ष के बाद सुरक्षा बलों ने इस घटना को अंजाम दिया।

म्यांमार में ब्रिटिश राजदूत डांग चुग ने सुरक्षा बलों की कार्रवाई की निंदा करते हुए कहा कि ‘खबर है कि सैनिकों ने मागवाय में पूरा गांव जला दिया है। बुजुर्गो की जान गई है। इससे एक बार फिर प्रदर्शित हुआ है कि सेना का खौफनाक अपराध जारी है और म्यांमार की जनता के प्रति उसके मन में कोई सम्मान नहीं है।’वहीं म्यांमार की सरकारी टेलीविजन ने लोकतंत्र समर्थकों पर ही गांव में आगजनी का आरोप लगाया है। म्यांमार के पूर्वी हिस्से में सेना से संघर्ष करने वाले जातीय राजनीतिक समूह ने सैनिक शासन के हमलों की जांच कराने की मांग की है।

Gyan Dairy

बता दें कि म्यांमार में 1 फरवरी 2021 की सुबह सेना ने वहां की आंग सांग सू की के नेतृत्‍व वाली लोकतांत्रिक सरकार का तख्‍तापलट कर सत्‍ता अपने हाथों में ले ली थी। इसके बाद से ही वहां पर सेना और लोगों के बीच जबरदस्‍त संघर्ष चल रहा है। संयुक्‍त राष्‍ट्र के कार्यकर्ताओं ने भी वहां के हालातों पर चिंता जताते हुए अंतरराष्‍ट्रीय पहल की अपील की है। यू

Share