म्यांमार: बच्चों पर सेना की क्रूरता देख नन बोली- मुझे मार ही डालो, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर

म्यांमार। म्यांमार में सैन्य तानाशाही की क्रूरता के खिलाफ जनता सड़कों पर उतर आई है। सेना द्वारा तख्तापलट के बाद विरोध-प्रदर्शन में दर्जनों लोग गोली के शिकार हो चुके हैं। इन दिनों म्यांमार एक तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। इस तस्वीर में नन सिस्टर एन रोज़ नु तावंगे सैनिकों के सामने घुटने टेककर बैठी हैं। नन लगातार सैनिकों से बच्चों को छोड़ने की अपील कर रही हैं। इसके बदले वह अपनी जान लेने को कह रही हैं।

तस्वीर में कैथोलिक नन सैनिकों के सामने हाथ फैलाए बैठी है। इस तस्वीर ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा रखा है। नन ने कहा कि “मैं उनसे निवेदन करती हूं… बच्चों को गोली मारने और यातना देने की जगह वह मुझे गोली मार दें।” बता दें कि लोकतंत्र के समर्थन में प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को मायित्किना की सड़कों पर विरोध किया। जब सेना से उनकी झड़प हुई, सिस्टर एन रोज नु तावंग और दो अन्य ननों ने उन्हें छोड़ने के लिए निवेदन किया।  “पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पीछा कर रही थी और मैं बच्चों के लिए चिंतित थी।”

Gyan Dairy

सैनिकों के सामने नन घुटनों पर बैठ गई और संयम की भीख मांगने लगीं। पुलिस ने उनके पीछे प्रदर्शनकारियों की भीड़ पर गोलीबारी शुरू कर दी। उन्होंने कहा, “बच्चे घबरा गए और सामने की तरफ भागे। मैं कुछ नहीं कर सकी। लेकिन मैं भगवान से बच्चों को बचाने और उनकी मदद करने के लिए प्रार्थना कर रही थी।” नन के सामने एक के सिर में गोली लगी हुई थी। फिर उन्हें आंसू गैस का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा, “मुझे लगा जैसे दुनिया दुर्घटनाग्रस्त हो गई। मुझे बहुत दुख हुआ क्योंकि मैं उनसे भीख मांग रही।

Share