blog

जवानों का सिर काटने के लिए खास चाकू लाए थे पाकिस्तान के BAT आतंकी, रिकॉर्डिंग भी की

Spread the love

एक मई को पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने कश्मीर के पुंछ में घुसपैठ की थी। इस दौरान 2 शहीदों के शव का सिर काट लिया गया था। बताया जा रहा है कि BAT के मेंबर घटना को अंजाम देने के लिए एक खास तरह का चाकू लाए थे। इस घटना को वे रिकॉर्ड कर सकें, इसके लिए उनके पास कैमरा था। ये कैमरा उनके सिर पर बंधा था। पुंछ में भारत की जवाबी कार्रवाई में एक बैट आतंकी को ढेर कर दिया था।

एक अफसर ने बताया, 22 जून को बैट का एक घुसपैठिया मारा गया था। इसकी बॉडी को लोकल पुलिस को सौंप दिया गया है।

खबर के मुताबिक, शुक्रवार को आर्मी ने पुंछ के गुलपुर सेक्टर में सर्च ऑपरेशन के दौरान एक बैट आतंकी की बॉडी बरामद की।

इसके पास से आर्म्स, गोलाबारूद और जंग में इस्तेमाल होने वाला साजोसामान मसलन एक खास तरह का चाकू, सिर पर बांधने वाला कैमरा, एक एके-47 राइफऱल, 3 मैगजीन, 2 ग्रेनेड मिली थीं। इसके अलावा एक बैग से आर्मी की यूनिफॉर्म भी मिली थीं। इन सबसे पता चलता है कि पाक आर्मी के बर्बर मंसूबों का पता चलता है।

अफसर ने ये भी बताया कि खास तरह के चाकू रखने का मकसद है कि वे हमारे जवानों का जल्द सिर कलम कर सकें। हालांकि हमारे जवान उनकी योजना को नाकाम कर देते हैं।

इस बात की जांच की जानी चाहिए कि क्या कैमरा सीमा पार पाक आर्मी से जुड़ा होता है और लाइव जानकारियां देता रहता है। फिलहाल हम कैमरे का डाटा और डिटेल का एनालिसिस करेंगे।

अफसर ने बताया कि BAT के आतंकी सिर पर बंधे बैंड में कैमरा लगाए रहते हैं ताकि वे अपने विरोधियों का गला काटते वक्त उसे रिकॉर्ड कर सकें।

डिफेंस सूत्रों ने बताया कि कृष्णा घाटी में पाकिस्तान ने पहले रॉकेट और भारी हथियारों से हमला किया। भारत की तरफ से भी जवाब दिया गया। इस दौरान दो पोस्ट के बीच भारतीय जवानों की एक टुकड़ी एलओसी पर लगी तारों की फेंसिंग पार कर लैंडमाइंस की चैकिंग के लिए आगे बढ़ी। पाकिस्तान की BAT वहां पहले से घात लगाकर बैठी थी। उसकी फायरिंग में हमारे दो जवान शहीद हो गए। इसके बाद BAT ने शहीदों के शवों के साथ बर्बरता की। उनके सिर काट दिए गए।

पाकिस्तान आर्मी की 647 मुजाहिद बटालियन ने सुबह 8 बजकर 30 मिनट पर पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में फायरिंग की। पाकिस्तान की ‘पिम्पल’ पोस्ट से भारत की ‘कृपाण’ पोस्ट को निशाना बना गया। मोर्टार और रॉकेट दागे गए। ऑटोमैटिक वेपंस से हैवी फायरिंग की गई।

आर्मी के एक सीनियर अफसर ने बताया- यह सोचा समझा हमला था। पाकिस्तान आर्मी की बीएटी टीम एलओसी पार कर भारतीय सीमा में करीब 250 मीटर तक घुस आई थी। ये काफी देर से हमले को अंजाम देने का इंतजार कर रहे थे। सोमवार सुबह पाक ने रॉकेट और मोर्टार से हमला किया। भारतीय पोस्ट पर तैनात जवानों को उलझाए रखा। इसके बाद उनका टारगेट 7 से 8 मेंबर वाली पेट्रोलिंग पार्टी थी, जो पोस्ट से बाहर चैकिंग के लिए आई थी।

BAT हकीकत में पाकिस्तान की स्पेशल फोर्स से लिए गए सैनिकों का ग्रुप है। हैरानी की बात ये है कि BAT में सैनिकों जैसी ट्रेनिंग पाए आतंकी भी हैं। ये एलओसी में 1 से 3 किलोमीटर तक अंदर घुसकर हमला करने के लिए तैयार किया गया है।

BAT का पूरा नाम पाकिस्तान बॉर्डर एक्शन टीम है। इसके बारे में सबसे पहले पांच और छह अगस्त 2013 की दरमियानी रात को पता लगा था। तब इसने एलओसी पर पेट्रोलिंग कर रही भारतीय सेना की टुकड़ी को निशाना बनाया था।

BAT को स्पेशल सर्विस ग्रुप यानी एसएसजी ने तैयार किया है। यह पूरी प्लानिंग के साथ अटैक करती है। ये टीम पहले खुफिया तौर पर ऑपरेशनों को अंजाम देती थी लेकिन बाद में मीडिया की वजह से खबरों में रहने लगी।

You might also like