नवाज शरीफ : पनामा लीक मामले में हुए दोषी, गंवानी पड़ेगी प्रधानमंत्री की गद्दी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पनामा लीक मामले में पाकिस्तान की उच्च अदालत द्वारा दोषी करार दे दिया गया है। इस फैसले के बाद नवाज शरीफ के प्रधानमंत्री पद की गद्दी पर नहीं रह पाएंगे।

पनामा पेपर्स में बताया गया है कि नवाज की राजनीतिक उत्तराधिकारी और उनकी बेटी मरियम नवाज ने लंदन में लाखों डॉलर की प्रॉपर्टी बनाई है। साथ ही उनपर मनी लॉन्ड्रिंग का भी आरोप है।

नवाज शरीफ और उनके परिवार पर प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए लंदन में प्रॉपर्टी बनाने के आरोप हैं और इसका खुलासा पिछले साल पनामा पेपर लीक में हुआ था।

डॉन के अनुसार सुप्रीम कोर्ट में न्यायमूर्ति असीफ सईद खोसा ने 12:00 से पनामा पत्रों के मामले में अपने फैसले की अदालत की घोषणा शुरू की।

Gyan Dairy

नवाज और उनके परिवार पर विदेशों में बेनामी संपत्ति खरीदने के आरोपों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एक संयुक्त जांच दल (JIT) का गठन किया था।

देरी के लिए माफी मांगने के बाद, उन्होंने न्यायमूर्ति एजाज अफजल खान को मंच दिया, जो इस मामले पर अप्रैल 20 के आदेश के बाद सुप्रीम कोर्ट के लागू होने वाले पीठ के अध्यक्ष थे।

JIT ने 10 जुलाई को अपनी रिपोर्ट अदालत को सौंप दी थी। रिपोर्ट में कहा गया था कि शरीफ और उनके बच्चों का रहन-सहन उनके आय के ज्ञात स्रोतों के मुकाबले काफी अच्छा है। रिपोर्ट में उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का नया मामला दर्ज करने का भी सुझाव दिया गया था।

Share