पाकिस्तानः भीड़ ने मंदिर में तोड़फोड़ के बाद लगाई आग, 14 गिरफ्तार

पेशावर। पड़ोसी देश पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर धार्मिक अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब एक कट्टरवादी इस्लामी संगठन के सदस्यों ने पश्चिमोत्तर के एक शहर में स्थित प्राचीन मंदिर में तोड़फोड़ की। इतना ही नहीं अराजक भीड़ ने क्षतिग्रस्त करने के बाद मंदिर को आग के हवाले कर दिया। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि देर रात छापेमारी करके 14 लोगों को पकड़ा गया है। इस मामले में शामिल और लोगों को पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी जारी है। पुलिस के मुताबिक करक जिले में हुई इस घटना की मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और पाकिस्तान के मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने कड़ी निंदा की थी। शिरीन मजारी ने बुधवार को ट्वीट करके मंदिर में आगजनी की घटना की निंदा की। इसके साथ ही उन्होंने घटना के लिए जिम्मेदार लोगों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने की अपील की।

Gyan Dairy

वहीं करक के जिला पुलिस प्रमुख इरफान उल्लाह ने बताया कि पुलिस ने मंदिर पर हमला करने के मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि कट्टरपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम पार्टी के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में भीड़ ने मंदिर पर हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि स्थानीय हिंदुओं ने इस मंदिर की मरम्मत के लिए प्राधिकारियों से अनुमति प्राप्त की थी। जिसके बाद यह हमला किया गया।

Share