अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संरक्षित पक्षी हुबारा बस्टर्ड के शिकार की पाकिस्तान ने दी अनुमति

पाकिस्तान की सरकार ने दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मख्तूम और शाही परिवार के छह अन्य सदस्यों को 2020-21 के शिकार के मौसम के दौरान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संरक्षित पक्षी हुबारा बस्टर्ड का शिकार करने की विशेष अनुमति दी है। डॉन अखबार की खबर के अनुसार, इससे पहले अरब के शाही परिवार को ऐसी अनुमति देने का विरोध कर चुके प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बार व्यक्तिगत रूप से अनुमति पत्र जारी किए हैं। सूत्रों के हवाले से दी गई खबर के अनुसार, विदेश मंत्रालय के प्रोटोकॉल विभाग के उपप्रमुख ने प्रधानमंत्री की मंजूरी के बाद ये दस्तावेज जारी किए। अनुमति पत्र (परमिट) इस्लामाबाद स्थित संयुक्त अरब अमीरात के दूतावास को भेज दिए गए हैं।दुबई के शासक राशि अल-मख्तूम के अलावा जिन लोगों को परमिट जारी किए गए हैं उनमें वलीअहद (युवराज), उपशासक, वित्त और उद्योग मंत्री, पुलिस के उपप्रमुख, सेना के एक अधिकारी, शाही परिवार के दो सदस्य और एक उद्योगपति शामिल हैं। विपक्ष में रहते हुए खान ने अरब के धनी परिवारों द्वारा संरक्षित पक्षियों के शिकार का हमेशा विरोध किया था। ये परिवार हर साल संरक्षित या लुप्तप्राय पक्षियों का शिकार करने पाकिस्तान आते हैं। सऊदी के शाहजादा सुल्तान बिन अब्दुल अजीज सउद ने कहा था कि 2014 में उन्होंने 21 दिनों में अभयारण्यों और संरक्षित क्षेत्रों में 1,977 पक्षियों का शिकार किया जबकि उनके साथ आए लोगों ने 123 पक्षियों का शिकार किया। उस दौरान कुल 2,100 पक्षियों का शिकार किया गया। इसकी काफी आलोचना हुई थी, लेकिन शिकार अभी भी जारी है।

Gyan Dairy
Share