तालिबान का पाकिस्तान प्रेम उजागर, कहा – हमारी सीमाएं और मजहब एक है

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान के सुर बदल गए हैं। तालीबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि पाकिस्तान हमारा दूसरा घर है। हमारी सीमाएं सटी हैं और मजहब भी एक है। उन्होंने कहा कि भविष्य में हमारे संबंध और प्रगाढ़ होंगे। जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि ‘अफगानिस्तान की सीमा पाकिस्तान से लगती है। धार्मिक रूप से भी दोनों देशों के नागरिक बेहद मिले-जुले हैं।

तालिबान के प्रवक्ता ने भारत के साथ अच्छे संबंध रखने की भी उम्मीद जताई है। तालिबान ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को आपस में बैठकर अपने बीच के मुद्दों को हल करना चाहिए। जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि तालिबान भारत समेत दुनिया के तमाम देशों से अच्छे संबंध चाहता है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान पर तालिबानी कब्जे में पाकिस्तान की कोई भूमिका नहीं है। तालिबान ने कहा कि पाकिस्तान ने कभी भी अफगानिस्तान के मामलों में दखल नहीं दिया है।

Gyan Dairy

अफगानिस्तान में सरकार के गठन को लेकर तालिबान ने कहा कि हम देश में एक मजबूत शासन चाहते हैं, जो इस्लाम पर आधारित हो और सभी अफगानी उसका हिस्सा हों। तालिबान ने अमेरिका की ग्वांतनामो बे जेल में बंद मुल्ला अब्दुल कय्यूम जाकिर को कार्यवाहक रक्षा मंत्री बनाने की तैयारी में है। तालिबान ने अब तक सरकार गठन को लेकर कुछ भी स्पष्ट तौर पर नहीं कहा है, लेकिन मुजाहिद ने कहा कि 31 अगस्त को अमेरिकी सैनिकों की वापसी से पहले इसका फैसला हो जाएगा।

Share