ब्रिटेन-कनाडा में सड़कों पर उतरे लोग, बलूचिस्तान में पाकिस्तान के अत्याचार के खिलाफ किया प्रदर्शन

विक्टिम्स ऑफ इनफोर्स्ड डिस्पीयरेंस’ के अंतरराष्ट्रीय दिवस के मौके पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन देखने को मिले। यूके की संसद और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के आवास के बाहर ‘सिंधी बलूच फोरम’ और ‘फ्री बलूचिस्तान मूवमेंट’ ने बलूचिस्तान में हो रहे दमनकारी शासन को लेकर पाकिस्तान सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान ‘सिंधी बलूच फोरम’ के सदस्य हाथ में पाकिस्तान सरकार के विरोध के पोस्टर लिए हुए यूके की संसद के बाहर खड़े हुए। उन्होंने पाकिस्तान सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और बलूचिस्तान में हो रहे अत्याचारों के बारे में बताया।

वहीं दूसरी ओर ‘फ्री बलूचिस्तान मूवमेंट’ के सदस्यों ने लंदन में स्थित यूके के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के आवास का घेराव किया। समूह के सदस्यों ने ‘बलूच नागरिकों की हो रही हत्याओं को रोकें’ जैसे पोस्टरों के जरिए अपना विरोध दर्ज कराया।

Gyan Dairy

उन्होंने ब्रिटेन सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से पाकिस्तान का समर्थन करने से रोकने का आग्रह किया क्योंकि उनका समर्थन पाकिस्तान को मानवता के खिलाफ अधिक अपराध करने की अनुमति दे रहा है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि हजारों निर्दोष बलूच लोगों को गिरफ्तार किया गया है और बाद में वे गायब हो गए हैं। उनमें से कई हिरासत में मारे गए हैं।

उन्होंने हयात बलूच की हालिया हत्या की भी कड़ी निंदा की, जिसे फ्रंटियर कोर द्वारा उनके माता-पिता के सामने बलूचिस्तान के तुर्बत में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। कार्यकर्ताओं ने अपील की कि इस संबंध में एक तथ्य खोजने वाला मिशन होना चाहिए और कहा कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री को बलूचिस्तान में मानवाधिकारों के हनन का संज्ञान लेना चाहिए।

Share