राष्ट्रपति ट्रंप को अदालत से फिर लगा झटका, यात्रा प्रतिबंध को किया बैन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का कहना है कि इस प्रतिबंध के माध्यम से आतंकवादियों को अमेरिका में प्रवेश करने से रोका जा सकेगा जबकि आलोचकों का कहना है कि इससे भेदभाव पैदा होती है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस महीने की शुरुआत में इस नए राष्ट्रपति अध्यादेश पर हस्ताक्षर किए थे जिसके अनुसार छह मुस्लिम देशों के नागरिकों पर 90 दिन के लिए अमेरिका के नए वीजा प्राप्त करने पर पाबंदी लगा दी गई थी। इस अध्यादेश के अनुसार वे लोग जिनके पास पहले से वीजा मौजूद है, वह अमेरिका जा सकते हैं

संघीय न्यायाधीश ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा लगाई जाने वाली नई यात्रा प्रतिबंध शुरू होने से एक घंटा पहले निलंबित कर दिया है अमेरिकी जिला जज डेरेक वाटसन की ओर से जारी होने वाले अध्यादेश ने कार्यकारी आदेश को लागु होने से रोक दिया है।गौरतलब है कि हुआई उन कई अमेरिकी राज्यों में से एक है जो इस प्रतिबंध को रोकने की प्रयास कर रही हैं।

नए अध्यादेश के अनुसार ईरान, लीबिया, सीरिया, सोमालिया, सूडान और यमन के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर 90 दिनों के लिए प्रतिबंध लगाया गया है। पहले अध्यादेश में इराक का भी नाम प्रतिबंध लगाए गए देशों की सूची में शामिल था लेकिन नए अध्यादेश में उसका नाम हटा दिया गया है।

याद रहे कि जनवरी में भी यात्रा प्रतिबंधों से संबंधित जारी किए गए एक अध्यादेश के खिलाफ देश भर में प्रदर्शन देखने में आए थे और अमेरिका के हवाई अड्डों पर गंभीर अफरातफरी का आलम था हालांकि इस अध्यादेश को फेडरल कोर्ट ने फरवरी में निलंबित करार दे दिया था।

इस ताजा अदालती फैसले पर अभी व्हाइट हाउस की ओर से कोई बयान सामने नहीं आया है। हुआइ राज्य के बाद तीन राज्यों ने भी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के यात्रा प्रतिबंध से संबंधित नए राष्ट्रपति अध्यादेश के खिलाफ मुकदमा दायर किया था।

Gyan Dairy

न्यूयॉर्क राज्य के मामले में कहना है कि राष्ट्रपति का नया अध्यादेश मुसलमानों पर प्रतिबंध है, जबकि वाशिंगटन के अनुसार यह अध्यादेश राज्य के लिए नुकसानदे है।

 

 

Share