खुलासा! इमरान के करीबी पूर्व जनरल असीम बाजवा के पास 133 रेस्टोरेंट और 99 कंपनियां

आर्थिक स्थिति से जूझ रहे पाकिस्तान में एक वेबसाइट ने पाकिस्तानी सेना के पूर्व जनरल असीम सलीम बाजवा को लेकर बड़ा खुलासा किया है। वेबसाइट फैक्ट फोकस के मुताबिक, बाजवा ने सेना में रहने के दौरान से अब तक 99 कंपनियां और 133 रेस्टोरेंट बना लिए हैं। उनका अरबों का कारोबार है, जो पाकिस्तान, अमेरिका, यूएई और कनाडा में फैला है।

बाजवा के इस काम में उनका परिवार भी शामिल था। बाजवा पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता थे। बाद में रिटायर होने पर चीन से करीबी देखते हुए उन्हें चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) का चेयरमैन बना दिया गया। असीम बाजवा 6 भाई और तीन बहनें हैं।

कोरोनाकाल में इस खुलासे के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है। इतना ही नहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर जनरल असीम बाजवा को हटाने के लिए दबाव बढ़ता जा रहा है। दूसरी ओर वेबसाइट फैक्ट फोकस ने जब यह खुलासा किया तो कुछ देर के लिए उनकी वेबसाइट ही हैक हो गई। हालांकि बाद में उसे ठीक कर‍ लिया गया।

कद के साथ कारोबार भी बढ़ता गया

रिपोर्ट में कहा गया है कि जैसे-जैसे सेना में असीम बाजवा का कद बढ़ता गया, वैसे उनका और उनके परिवार का कारोबार भी बढ़ता गया। जनरल असीम ने अपनी शपथ में कहा था कि उनकी पत्नी का पाकिस्तान के बाहर को कोई बिजनेस नहीं है। लेकिन, असलियत ठीक इसके उलट निकली।

Gyan Dairy

बाजवा इस समय सीपीईसी के चेयरमैन हैं, जिसके तहत चीन अरबों डॉलर का निवेश पाकिस्तान में कर रहा है। यही नहीं जनरल असीम पाक पीएम इमरान खान के विशेष सहायक हैं। असीम बाजवा के छोटे भाइयों ने 2002 में पहली बार पापा जॉन पिज्जा रेस्तरां खोला था। इसी साल जनरल असीम तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल परवेज मुशर्रफ के पास लेफ्टिनेंट कर्नल के रूप में तैनात थे।

असीम के भाई ने रेस्तरां में डिलिवरी ड्राइवर के रूप में कॅरियर शुरू की

असीम बाजवा के भाई नदीम बाजवा ने पिज्जा रेस्तरां में डिलिवरी ड्राइवर के रूप में करिअर की शुरुआत की थी। वर्तमान में उनके भाई और असीम बाजवा की पत्नी 99 कंपनियों के मालिक हैं। इनके पास पिज्जा कंपनी के 133 रेस्तरां हैं, जिनकी कीमत करीब 4 करोड़ डॉलर (करीब 292 करोड़ रुपए) है। इन 99 कंपनियों में 66 मुख्य कंपनियां हैं और 33 ब्रांच कंपनी। बाजवा के परिवार ने 5 करोड़ 22 लाख डॉलर (करीब 382 करोड़ रुपए) अपने बिजनेस को विकसित करने में खर्च किया। साथ ही एक करोड़ 45 लाख डॉलर अमेरिका में संपत्ति खरीदने में खर्च की।

Share