रूस ने खारिज किए स्पेस में मिसाइल परीक्षण के आरोप

रूस ने अमेरिका और ब्रिटेन के उन दावों को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि उसने अंतरिक्ष में उपग्रह रोधी हथियार का परीक्षण किया है  इसके साथ ही रूस ने कहा कि ये आरोप साबित करते हैं कि अमेरिका खुद अंतरिक्ष में हथियार तैनात करने का इरादा रखता है. अमेरिका और ब्रिटेन के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को दावा किया था कि 15 जुलाई को उपग्रह रोधी हथियार के परीक्षण से संकेत मिलता है कि रूस ऐसी प्रौद्योगिकी विकसित करने का प्रयास कर रहा है जो अंतरिक्ष में अमेरिका और उसके सहयोगी राष्ट्रों की संपत्ति के लिए खतरा पैदा कर सकता है.

परीक्षण से अंतरिक्ष में नहीं हुआ किसी तरह का खतरा पैदा: रूस

रूस के विदेश मंत्रालय ने आरोपों को खारिज करते हुए एक बयान में कहा कि 15 जुलाई के परीक्षण से अंतरिक्ष में किसी तरह का खतरा पैदा नहीं हुआ है और यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन करते हुए किया गया. बयान में कहा गया कि रूस की अंतरिक्ष गतिविधियों और शांतिपूर्ण अभियानों को लेकर दुष्प्रचार किया जा रहा है.

अमेरिका और ब्रिटेन के आरोपों के बारे में टिप्पणी के लिए पूछे जाने पर राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने संवाददाताओं से कहा कि रूस हमेशा से अंतरिक्ष के विसैन्यीकरण और किसी भी प्रकार के हथियार की तैनाती नहीं करने के पक्ष में रहा है.

Gyan Dairy

रूस के राष्ट्रपति समेत अरबपतियों ने लगवाया टीका

वहीं इससे इतर कोरोना वायरस से जंग में रूस आगे चल रहा है.कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में लगी वैज्ञानिकों की सैकड़ों टीमों में से कुछ टीमें आगे चल रही हैं, इनमें रूस के वैज्ञानिकों का एक दल भी है. रूस ने दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस की वैक्‍सीन का इंसानों पर ट्रायल पूरा कर लिया है. हालांकि अब एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि रूसी राष्ट्रपति पुतिन, बड़ी राजनीतिक हस्तियों और देश के अरबपतियों ने अप्रैल महीने में ही कोरोना का टीका लगवा लिया था.  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share