US आर्मी का चीन को जवाब! होवित्जर टैंक से ही क्रूज मिसाइल को मार गिराया

हैरान कर देने वाली घटना में अमेरिकी सेना की होवित्जर तोप ने क्रूज मिसाइल को ही मार गिराया। ऐसा पहली बार हुआ है और अभी से इस बात की अटकलें लगने लगी हैं कि कभी जंग की स्थिति में होवित्जर तोपें पैसिफिक के एयरबेस पर मिसाइलें गिराती दिख सकती हैं। ताजा कारनामा बुधवार को न्यू मेक्सिको की वाइट सैंड मिसाइल रेंज में किया गया। एक्सपर्ट्स का दावा है कि इससे पैसिफिक में अमेरिका को चीन के खिलाफ मदद मिल सकती है।

फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक M-109A6 Paladin ट्रैक्ड होवित्जर ने 155 मिलीमीटर के डायमीटर की हाइपर-वेलॉसिटी शेल फायर की जिसने BQM-167 टार्गेट जोन को ध्वस्त कर दिया। अमेरिकी एयरफोर्स के टॉप साइंटिस्ट विल रॉपर ने कहा, ‘क्रूज मिसाइलों को शूट करते टैंक अद्भुत हैं- वीडियो गेम,साइ-फाई की तरह अद्भुत।’

‘ऐसे करता है काम’

कैनन आधारित एयर-डिफेंस एयर फोर्स के कमांड सिस्टम के दो दिन के ट्रायल के दौरान किया गया। अडवांस्ड बैटल मैनेजमेंट सिस्टम (ABMS) आर्टिफिशल इंटेलिजेंस है जो अलग-अलग सोर्स से सेंसर डेटा लेता है, जैसे सैटलाइट, स्टेल्थ फाइटर, ब्लिंप, रेडार। इन सबको मिलाकर वह एक जंगी मैदान जैसी डिजिटल तस्वीर तैयार करता है। इसके बाद AI ऐसी फोर्स की पहचान करता है जो किसी टार्गेट को तबाह कर सकती है और कमांडर्स को एक मेन्यू देता है जिससे शूटर को चुनना होता है।

Gyan Dairy

चीन से निपटने में हो सकती है मदद

फोर्ब्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि ABMS चीन से निपटने के लिए सटीक हथियार साबित हो सकता है। चीन के पास 1,300 रॉकेट और क्रूज मिसाइलें हैं। जंग के हालात में इतने जखीरे के साथ चीन अमेरिका के पैसिफिक बेस पर आग बरसा सकता है। खासकर ओकिनावा और गुआम चीन के निशाने पर रहेंगे। ऐसे में यह तय नहीं है कि अमेरिका यहां चीन का सामना कर ही सकेगा।  

Share