एक ‘दीवार’ जिसके निर्माण में खर्च होंगे करीब 2700 अरब रुपये…

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप मैक्सिको से लगी सीमा पर दीवार बनाना चाहते हैं, जिसके चलते दोनों देशों के संबंधों में खटास देखने को मिल रही है. इसकी बानगी यह भी है कि मैक्सिको के राष्‍ट्रपति एनरिके पायना नीटो ने आगामी मंगलवार को अमेरिका की अपनी पूर्व निर्धारित यात्रा को भी रद्द कर दिया.

दरअसल, अवैध प्रवासियों को रोकने के अपने चुनावी वादे के तहत डोनाल्‍ड ट्रंप ने बुधवार रात मैक्सिको से लगी सीमा पर दीवार के निर्माण के आदेश दिए थे. सिविल इंजीनियर और सुरक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि इस दीवार के निर्माण में करीब 27 से 40 अरब डॉलर यानि 2722 अरब रुपये का खर्च आएगा. यह अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था पर एक बड़ा बोझ होगा, जोकि उसके वहन से बाहर होगा.

राष्‍ट्रपति नीटो ने अपनी यात्रा रद्द करने का फैसला उस वक्‍त लिया, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट कर कहा था कि अगर मैक्सिको दोनों देशों की सीमा पर विशाल दीवार के निर्माण के लिए पैसे देना नहीं चाहता, तो उन्हें वाशिंगटन की अपनी यात्रा रद्द कर देनी चाहिए.

Gyan Dairy

दीवार का निर्माण्‍ा होने पर यह दुनिया की सबसे बड़ी निर्माण योजना होगी. पिछले कई वर्षों से बॉर्डर पर स्टील के कांटेदार तारों को लगाने का प्रोजेक्ट ही पूरा नहीं हुआ है.

आइये जानते हैं इस दीवार को लेकर कुछ मुख्‍य बातें…

  1. एरिजोना मरुस्‍थल और रियो ग्रैंड रिवर में इस दीवार का टिकना लगभग असंभव है.
  2. दीवार के निर्माण के बावजूद हजारों सुरक्षाकर्मियों की जरूरत होगी.
  3. सरकार को भूमि अधिग्रहण की चुनौतियों से भी जूझना होगा.
  4. दीवार की नींव करीब 5 फीट होगी.
  5. ऊंचाई 20 फीट होगी.
  6. यह 8 इंच मोटी होगी.
  7. इसके निर्माण में 34 करोड़ टन कंक्रीट का इस्‍तेमाल होगा.
  8. दीवार को बनने में करीब चार साल लगेंगे..
  9. दरअसल, अमेरिका और मैक्सिको की सीमा करीब 3,200 किलोमीटर लंबी है.
  10. इसमें से करीब 1,100 किमी. पर अब तक बाड़ लगाई जा चुकी है.
  11. यह सीमा चार अमेरिकी राज्यों और छह मैक्सिकन राज्यों से होकर गुजरती है.
  12. इसमें रेगिस्तानी इलाकों से लेकर बड़े शहर तक आते हैं.
Share