पश्चिम अफ्रीका के कुख्यात आतंकी संगठन बोको हराम का मुखिया अबूबकर शेकाउ मारा गया, घिरने पर खुद को विस्फोटक से उड़ाया

नई दिल्ली। अफ्रीका के कई देशों में आतंक का पर्याय बन चुके कट्टर इस्लामी आतंकी समूह बोको हराम के सरगना अबूबकर शेकाउ ने खुदकुशी कर ली है। बोबो हराम के विरोधी संगठन द‍ इस्‍लामिक स्‍टेट वेस्‍ट अफ्रीकन प्रोविंस ने अबूबकर शेकाउ के मरने की पुष्टि की है। ISWAP नेता अबू मुसाब अल-बरनावी ने रिकॉर्डिंग जारी करके बताया कि 18 मई को हो रही लड़ाई में ISWAP ने अबूबकर को घेर लिया था। खुद को घिरा पाकर अबूबकर ने विस्फोटक से खुद को उड़ा दिया।

पिछले महीने नाइजीरिया की सेना ने कहा था कि वह अबूबकर की कथित मौत की जांच कर रही है। बोको हराम पर रिसर्च करने वाले बुलामा बुकार्ती बताते हैं कि ISWAP अब लेक चाड में अपनी पकड़ मजबूत बना रहे हैं। लेड चाड अबूबकर शेकाउ का गढ़ हुआ करता था। ISWAP लंबे समय से इसके लिए संघर्ष कर रहा था। माना जा रहा है कि अबूबकर की मौत के बाद दोनों संगठनों के बीच की हिंसा खत्म हो सकती है। बोको हराम के लोग अब इस्लामिक स्टेट जॉइन कर सकते हैं। अबूबकर ही वह व्यक्ति था जिसे इस्लामिक स्टेट मारना चाहता था।

Gyan Dairy

बता दें कि बोको हराम ने 2014 में चिबोक शहर से 270 से ज्यादा स्कूल में पढ़ने छात्राओं का अपहरण किया था जिसके बाद दुनिया भर में उसने सुर्खियां बटोरीं थी. छात्राओं की वापसी के लिए पूरी दुनिया में #BringBackOurGirls नाम से एक अभियान शुरू हुआ था। 100 लड़कियां अभी भी लापता हैं, और माना जाता है कि कुछ की कैद में मौत हो गई थी।

Share