साल में सिर्फ एक रात खिलता है ब्रह्मकमल, देखने पर पूरी होती है मनोकामना

नई दिल्ली। धरती पर ऐसे बहुत सारे पशु, पक्षी, पेड़ और पौधे मौजूद हैं, जिनका रहस्य कोई भी नहीं सुलझा सका। आज हम आपको कमल के एक अद्भुत फूल के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे।

दरअसल, कमल एक ऐसा फूल है जो रात के समय ही खिलता है। आज हम आपको जिस कमल के फूल के बारे में बताने जा रहे हैं वो आधी रात के बाद ही खिलता है। इसलिए इसे खिलते देखना स्वप्न समान माना जाता है। मान्यता है कि अगर इसे खिलता हुआ देख कर कोई कामना की जाए तो वो जल्दी ही पूरी होती है।

आपको बता दें, ब्रह्मकमल ब्रम्हकमल का अर्थ है ब्रम्हा का कमल। इसे मां नंदा का प्रिय पुष्प माना जाता है। इसके पीछे एक कहानी है। मान्यता है कि जब पांडव अज्ञातवास पर गए तो द्रौपदी उनके साथ थीं। द्रौपदी मानसिक रूप से बेहद अशांत थीं क्योंकि वह कौरवों द्वारा मिले अपमान के आघात से अत्यंत दुखी थीं। घने जंगल के कष्टों से वह और भी परेशान थीं। इसी दौरान एक संध्या को उन्होंने झरने के पानी में एक सुंदर सुनहरा कमल बहते देखा।

Gyan Dairy

द्रौपदी के सामने ही वह कमल खिल गया। इसे देख कर द्रौपदी बहुत प्रसन्न हुईं। अचानक कमल जैसे खिला था, वैसे ही मुरझा भी गया। यह एक संकेत था कि द्रौपदी के दुखों का यहीं अंत नही था। इस कहानी से इस कमल को रहस्यमय कहा जा सकता है जो भविष्य का संकेत देता है।

मान्यता है इससे बुरी आत्माएं भी दूर भागती हैं। ये पुष्प केवल साल में एक बार ही एक रात के लिए खिलता है। आधी रात तक ये पूरा खिल जाता है और सुबह तक मुरझा जाता है। ब्रम्हकमल का जीवन सिर्फ से 5 से 6 माह ही होता है। धार्मिक मान्यता के चलते लोगों की इसमें खासी आस्था है।

Share