कोरोना संकट: पति घूमाने नहीं ले जा रहे तो पत्नियां मांग रहीं Divorce

नई दिल्ली। कोरोना संकट के चलते गुजरात में अजीबो गरीब मामले सामने आ रहे हैं। गुजरात में इन दिनों तलाक (Divorce) व घरेलू हिंसा के मामले तेजी से बढ़ गए हैं। पति अपनी पत्नियों को कोरोना काल में कहीं घूमाने नहीं ले जा रहे हैं। ऐसे में घरेलू कलह लगातार बढ़ रही है। इनमें कई मामले तो तलाक की दहलीज तक पहुंच गए हैं।

अहमदाबाद की पॉश कालोनी में रहने वाले एक ज्वेलरी कारोबारी की पत्नी अस्मिता ने सरकारी हेल्पलाइन पर शिकायत की कि उनके पति ने मारपीट की है। कारोबारी ने हेल्पलाइन के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि लॉकडाउन की वजह से उनका कारोबार चौपट हो गया था। ऐसे में उन्हें दिवाली से उम्मीद थी कि कुछ कमाई होगी और राहत मिलेगी। इस बीच पत्नी जिद पर अड़ी रही कि उसे हर हाल में घूमने जाना है। इस जिद के चलते पत्नी आधी रात में झगड़ा करने लगी, जिससे मैं परेशान हो गया था। इसी के चलते गुस्से में हाथ उठा दिया।

वहीं इसनपुर में रहने वाली माना पटेल की शादी फरवरी में हुई थी। माना पटेल का पति एक आईटी कंपनी में नौकरी कर रहा था। लॉकडाउन में पति की सैलरी कट कर आ रही थी। दोनों शादी के बाद कहीं घूमने नहीं जा पाए थे। माना घूमने जाना चाहती थी लेकिन उसका पति पैसे ना होने का बहाना देकर टाल दिया करता था। बाद में पत्नी को लगने लगा कि उसका पति बहाने मार रहा है और उसे लेकर नहीं जाना चाह रहा है। इसके बाद दोनों के बीच झगड़े बढ़ने लगे और पत्नी मायके चली गई और तलाक की मांग करने लगी।

Gyan Dairy

वहीं एक अन्य सम्पन्न परिवार के पार्थ वासवड़ा और उनकी पत्नी के बीच लंबे समय से विदेश जाने को लेकर झगड़े चल रहे थे। गर्मी में कोरोना संक्रमण की वजह से हवाई यात्रा बंद कर दी गई थीं, जिसके बाद उन दोनों का अंडमान द्वीप जाने का कार्यक्रम रद्द हो गया था। इसके बाद पार्थ ने अपनी पत्नी से वादा किया कि वो दिवाली की छुट्टी पर उसे हर हाल में विदेश घुमाने ले जाएगा लेकिन फ्लाइट शुरू न होने से बुकिंग नहीं हुई तो झगड़ा फिर बढ़ गया। पार्थ की पत्नी ने हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज करवा दी।

Share