बौनों का गांव वैज्ञानिकों के लिए पहेली, यहाँ रहते हैं सिर्फ बौने लोग

नई दिल्ली। चीन के शिचुआन प्रांत के यांग्सी नाम का गांव पूरी दुनिया में रहस्य बना हुआ है।
इस अनोखे गांव के निवासियों में 40 फीसदी से ज्यादा लोगों की लंबाई सामान्य से भी कम है। गांव में तकरीबन 80 में से 36 लोग बौने हैं। इस गांव के सबसे लंबे व्यक्ति की लम्बाई 3 फिट 10 इंच का है जबकि सबसे छोटे व्यक्ति की लंबाई 2 फिट 1 इंच है। इतनी अधिक संख्या में लोगो के बौने होने के कारण यह गांव बौनों के गांव के नाम से प्रसिद्ध है। हालांकि इतनी बड़ी तादाद में लोगो के बौने होने के पीछे क्या रहस्य है इसका पता वैज्ञानिक पिछले 60 सालों में भी नहीं लगा पाये है।

यह रहस्य वैज्ञानिक 60 साल बाद आज तक नहीं सुलझा पाये है। वैज्ञानिक और विशेषज्ञ इस गांव की पानी, मिट्टी, अनाज आदि का कई बार अध्ययन कर चुके है लेकिन वो इस स्थिति का कारण खोजने में नाकाम रहे है। वहीं कुछ लोगो को मानना है की इसका कारण वो ज़हरीली गैसें हैं जो जापान ने द्वितीय विश्वयुद्ध में चीन पर छोड़ी थी। हालांकि यह एक तथ्य है की जापान कभी भी चीन के इस इलाके में नहीं पहुंचा था। ऐसे ही समय-समय पर तमाम दावे किए गए, लेकिन सही जवाब नहीं मिला।

Gyan Dairy

यांग्सी गांव के बुजुर्गों का कहना है कि इस गांव को दशकों पहले किसी बिमारी ने घेर लिया था जिसके चलते वहां के लोग अजीबो-गरीब हरकते करने लगे थे। अब गांव के कुछ लोग इसे बुरी ताकत का प्रभाव मानते हैं, तो कुछ लोगों का कहना है कि खराब फेंगशुई के चलते हो ऐसा हो रहा है। वहीं, कुछ का कहना ये भी है कि ये सब अपने पूर्वजों को सही तरीके से दफन ना करने के चलते हो रहा है।

Share