इस मंदिर में भक्तों को मिलता चूहों का झूठा प्रसाद, जानें वजह

नई दिल्ली। हमारे देश के मंदिरों में कई रहस्य छिपे हुए हैं। आज हम आपको एक ऐसे रहस्यमयी मंदिर के बारे बताने जा रहे हैं, जहां भक्तों को झूठा प्रसाद दिया जाता है। राजस्थान के बीकानेर से 30 किलोमीटर आगे एक जगह है जिसका नाम है देशनोक। देशनोक में करणी माता का मंदिर है। जहाँ हजारों की संख्या में चूहे मौजूद हैं। मंदिर में मौजूद चूहों को करणी माता की संतान माना जाता है। यहां के लोगों के अनुसार करणी माता मां जगदम्बा का अवतार है।

करणी माता का जन्म चारण परिवार में 13वी शताब्दी में हुआ था। उनका नाम रघुबाई था । रघुबाई की शादी किपोजी चारण से हुई थी। रघुबाई की सांसारिक जीवन में कोई दिलचस्पी नहीं थी । जिस वजह से रघुबाई ने अपने पति का विवाह अपनी छोटी बहन से करवा दिया और खुद संन्यासी बन भगवान की भक्ति में लीन हो गई।

Gyan Dairy

एक बार उनके पति और छोटी बहन की संतान जिसका नाम लक्ष्मण था वो कपिल सरोवर में गिर गया । जिस वजह से उसकी अकाल मृत्यु हो गई। करणी माता के लाख यतन के बाद यमराज ने लक्ष्मण को चूहे के रूप में पुनः जीवित कर दिया। तब से इस मंदिर में चूहों के रुप में माता करणी की संतान मौजूद हैं।

Share