पहले अंडा आया या फिर मुर्गी, जानिए इस सवाल का जवाब

नई दिल्ली। कई बार आपने एक सवाल जरूर सुना होगा कि पहले मुर्गी आई या अंडा। यह सवाल वैैसे बहुत छोटा है लेकिन इसका जवाब किसी के पास नहीं है। लेकिन अब इसका जवाब मिल गया है। शेफील्ड और वारविक यूनिवर्सिटी की ओर से पहले मुर्गी के आने का दावा किया गया। वैज्ञानिकों का कहना है कि पहले मुर्गी का जन्म हुआ है। इससे पहले ओवोक्लाइडिन नाम के प्रोटीन से अंडे के खोल का निर्माण हुआ है। इस प्रोटीन के बिना अंडे का निर्माण होना असंभव नहीं है।

सबसे खास बात तो यह है कि यह प्रोटीन सिर्फ मुर्गी के ओवरी यानी कि गर्भाशय में ही पाया जाता है। इसके अलावा उसके शरीर के किसी भाग में इसका मिलना संभव नहीं है। इस शोध दल के मुख्य वैज्ञानिक डॉक्टर कोलीन फ्रीमैन का कहना है कि लंबे समय चल रही ये अनसुलझी पहेली अब सुलझ गई है। डॉक्टर कोलीन का मानना है कि इसे प्रमाणित करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक सबूत भी हैं। मुर्गियों की ओवरी से प्रोटीन पैदा होता है और उसी से अंडा बना है। यह बात अंडे को खोलकर टेस्ट करने पर पता चली है। वैज्ञानिकों ने कंप्यूटर हेक्टर की मदद से अंडे को खोला था।

Gyan Dairy

हालांकि रिपोर्ट में इस बात का जिक्र नहीं है कि मुर्गी कहां से और कैसे आई है। वहीं इस संबंध में प्रोफेसर जॉन हार्डिंग का कहना है कि हकीकत में यह रासायनिक प्रक्रिया काफी चौकाने वाली है। मुर्गी के शरीर में अंडे के छिलके का तैयार होना एक दुर्लभ प्रक्रिया है। ऐसे में अगर इसे समझ लिया जाए तो और ज्यादा नए तथ्य सामने आने की संभावना है। इससे काफी तेजी से विकास की ओर बढ़ा जा सकता है। उनका यह भी कहना है कि प्रकृति अपने अनोखे तरीकों से हर तरह के समाधान करने की क्षमता रखती है।

Share