यहां पुरुष और महिलाएं एक जैसे कपड़े (dresses) पहनते हैं, जानें अनोखी परम्परा

नई दिल्ली। दुनिया के कई देशों में ऐसी परम्पराएं हैं, जिन्हें सुनकर कोई भी हैरान रह जाएगा। ऐसी ही अनोखी परम्परा मेडागास्कर गणराज्य में निभाई जाती है। यहां के पुरुष और महिलाएं एक जैसे ही कपड़े (dresses) पहनते हैं। मसलन और पुरुष लुंगी पहनते हैं, तो यहां की महिलाएं भी लुंगी ही पहनती हैं।

मेडागास्कर अफ्रीका के दक्षिणी तट के पास हिंद महासागर में एक द्वीप देश है। यहां बसने वाले लोग बोर्नियो द्वीप से आए, जो अब ब्रुनेई, इंडोनेशिया और मलेशिया के बीच विभाजित है। वे 350 ईसा पूर्व और 550 सीई के बीच कैनोओ में पहुंचे और करीब 500 साल बाद तक मुख्य भूमि अफ्रीकियों में शामिल नहीं हुए।

मेडागास्कर गणराज्य दुनिया का चौथा सबसे बड़ा द्वीप है। दिलचस्प बात यह है कि यहां पुरुष और महिलाएं दोनों एक जैसे ही कपड़े पहनते हैं, जिसका नाम है- “लाम्बा’। वहीं विवाह के लिए लाम्बा, काम के लिए लाम्बा, वृद्धों के लिए लाम्बा, बच्चों के लिए लाम्बा और यहां तक कि मृतक भी एक विशेष प्रकार के लाम्बा में दफन से पहले लिपटे होते हैं।

मेडागास्कर का अपना फाइट क्लब है मोरासिंगी। यह तटीय क्षेत्रों में एक लोकप्रिय खेल है, जिसमें किसी भी हथियार के बिना हाथ से मुकाबला होता है। यहां के लोग भी फुटबॉल के दीवाने हैं। जबकि यहां का राष्ट्रीय खेल रग्बी है।

Gyan Dairy

मेडागास्कर को अक्सर इसकी मिट्टी के अनूठे रंग की वजह से ‘रेड आइलैंड’ के रूप में जाना जाता है। यहां के लोग मालागासी और फ्रेंच भाषाएं बोलते हैं। यहां कई ऐसे पौधों की प्रजातियां हैं जिन्हें हर्बल उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। प्राकृतिक रूप से धनी मेडागास्कर अफ्रीका के सबसे गरीब देशों में से एक है इस क्षेत्र के लोग खराब स्वास्थ्य देखभाल, एक गरीब शिक्षा प्रणाली, आर्थिक समस्याओं और कुपोषण सहित कई समस्याओं का सामना करते हैं।

विश्व का लगभग 80 प्रतिशत वेनिला मेडागास्कर से आता है। यह देश कॉफी, वेनिला, चीनी, शेलफिश, सूती कपड़े, पेट्रोलियम उत्पादों और क्रोमाइट के लिए भी जाना जाता है।

मेडागास्कर किंगडम की अंतिम सम्राट रानी रानावालोना III ने फ्रांसीसी औपनिवेशिक बलों द्वारा पद छोड़ने से पहले वर्ष 1883 से 1899 तक शासन किया। यहां राजधानी अन्तान्नेरिवो में ज्यादातर लोग निवास करते हैं। यह यहां की सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर भी है। मेडागास्कर यूरोपीय समुद्री डाकू और व्यापारियों के लिए 1700 के अंत और 1800 की शुरुआत तक लोकप्रिय विश्राम स्थान था।

Share