UA-128663252-1

इस देश में सात जन्मों के बंधन में बंधते हैं दम्पति, नहीं है तलाक का प्रावधान

नई दिल्ली। सदियों से शादी का बंधन दो लोगों को आपस में जोड़ने और उनको आजीवन साथ रहने का अधिकार देता है। हालांकि अगर कोई इस रिश्ते से बाहर निकलना चाहता है तो इसके लिए तलाक की व्यवस्था भी दी गई है। विभिन्न धर्मों और देशों में तलाक लेने की अपनी अलग व्यवस्था है। हालांकि आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे हैं कि जहां तलाक की कोई व्यवस्था नहीं है। यहां पति और पत्नी सिर्फ मरने के बाद ही अलग हो सकते हैं।

एशियाई देश फिलीपींस दुनिया का इकलौता ऐसा मुल्क हैं जहां तलाक पूरी तरह से गैरकानूनी है। यहां लंबी कोशिशों के बाद तलाक से जुड़ा एक विधेयक संसद में पेश किया गया लेकिन वह पास नहीं हो पाया। फिलीपींस के कानून के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति किसी विदेशी से विदेश की धरती पर तलाक लेता है तो वह दोबारा शादी कर सकता है। लेकिन अगर फिलीपींस का कोई जोड़ा देश के बाहर तलाक लेता है,तो भी उसे शादीशुदा ही माना जाएगा।

Gyan Dairy

आपको बता दें कि साल 2015 में जब पोप फ्रांसिस फिलीपींस गए थे, तो वहां के धर्मगुरुओं से अपील की थी कि तलाक चाहने वाले कैथोलिक लोगों के प्रति सहानुभूति नजरिया रखना चाहिए। फिलीपींस में ‘तलाकशुदा कैथोलिक’ होना अपमानजनक माना जाता है। हालांकि फिलीपींस के ईसाई धर्मगुरुओं ने पोप फ्रांसिस की बात को एकदम अनसुना कर दिया। फिलीपींस के लोगों को इस बात का गर्व है कि अब दुनिया में फिलीपींस इकलौता ऐसा देश है, जहां पर तलाक नहीं लिया जा सकता है।

Share