कभी दुनिया का सबसे अमीर शहर था जोहान्सबर्ग, कहा जाता था ‘सिटी ऑफ गोल्ड’

नई दिल्ली। आज अमेरिका, जर्मनी और जापान दुनिया के अमीर देशों में शुमार हैं। लेकिन डेढ़ शताब्दी पहले दक्षिण अफ्रीका का जोहान्सबर्ग शहर दुनिया का सबसे अमीर शहर हुआ करता था। जोहान्सबर्ग दक्षिण अफ्रीका का सबसे बड़ा और सबसे अधिक जनसंख्या वाला शहर है। हीरे और सोने की खानों के लिए प्रसिद्ध जोहान्सबर्ग को पहले ‘सिटी ऑफ गोल्ड’ यानी सोना उगलने वाला शहर कहा जाता था।

कहा जाता है कि 150 साल पहले यहां की खदानों से दुनिया का 80 फीसदी सोना निकाला जाता थ, लेकिन अब इसी शहर को दुनिया के सबसे खतरनाक शहरों में शुमार किया जाने लगा है। कहा जाता है कि यह शहर अब अपराधियों का अड्डा बन चुका है।

साल 1886 में एक अंग्रेज ने जोहान्सबर्ग में सोने के खदानों की खोज की थी। जब दुनिया को इस जगह के बारे में पता चला तो दूसरे-दूसरे देशों से लोग यहां आकर बसने लगे और सोने की खदानों में अपनी किस्मत आजमाने लगे। सोने के खदानों की वजह से ये शहर काफी अमीर बन चुका था।

Gyan Dairy

जोहान्सबर्ग में फिलहाल ‘गोल्ड रीफ सिटी’ मनोरंजन का सबसे बड़ा केंद्र है। यह शहर के सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट में सोने की खान के पास स्थित है। असल में यह एक पार्क है, जहां काम करने वाले कर्मचारी 1880 ई. के समय की पोशाक पहन कर घूमते दिखाई देते हैं। यहां की सभी इमारतों को भी उसी समय के हिसाब से डिजाइन किया गया है। यहां काफी संख्या में पर्यटक आते हैं और खदान से धातु निकाल कर सोना बनाने की पूरी प्रक्रिया को देखते और समझते हैं।

Share