UA-128663252-1

जानिये क्या होता है आर्गेनिक अंडे, बाज़ार में बढ़ रही इन अंडों की मांग

ऑर्गेनिक फार्मिंग आजकल खूब की जा रही है और लोग ऑर्गेनिक फार्मिंग के जरिए लाखों रुपए कमा रहे हैं। कई लोग फल, तो कुछ लोग सब्जियों की ऑर्गेनिक फार्मिंग किया करते हैं। ऑर्गेनिक फार्मिंग के तहत बिना केमिकल का प्रयोग किए खेती की जाती है और केमिकल रहित फल और सब्जी उगाई जाती है। लेकिन राजस्थान के एक युवक ने ऑर्गेनिक अंडों की फार्मिंग शुरू की है और इसके जरिए ये युवक अच्छे खासे पैसे कमा रहा है।

संजय कुमार ने उदयपुर-गोगुन्दा हाईवे पर चोर बावडी के समीप फार्म हाउस लिया है। जहां पर ये मुर्गी पालन कर ऑर्गेनिक अंडें बेचने का काम कर रहा है। संजय कुमार ने कई सारी मुर्गियां को पाल रखा है और इन मुर्गियों की सिर्फ ऑर्गेनिक खाना ही दिया जाता है।

साथ में ही संजय कुमार ने मुर्गियों के लिए आरओ के पानी की व्यवस्था भी की हुई है। यानी संजय ने पूरी तरह से मुर्गियों के खाने व  पानी का ख्याल रखा है और इन्होंने केवल जैविक चीजें ही दी जा रही हैं। जिससे की मुर्गियों द्वारा दिए जाने वाले अंडे ऑर्गेनिक हो रहे हैं।

25 रुपए आता है खर्चा

संजय के अनुसार एक अंडे पर उसका करीब 25 रूपये का खर्चा आ जाता है। ये मुर्गियों को केवल अच्छा और सही खाना ही देता है। जिसकी वजह से इनके अंडों का वजन और आकार दूसरे अंडों के मुकाबले ज्यादा बड़ा होता है। ये पूरी तरह से ऑर्गेनिक अंडे होते हैं।

Gyan Dairy

मुर्गियों के लिए गुजरात के जामनगर से फीड लाया जाता है। जो कि उत्तम गुणवत्ता के ऑर्गेनिक फीड होता है और इसे खाने से मुर्गी ऑर्गेनिक अंडें देती हैं। इसके अलावा संजय मुर्गियों को खाने के लिए हरी सब्जियां भी देता है और ये सब्जियां भी पूरी तरह से ऑर्गेनिक होती हैं।

खुले में रहती हैं मुर्गियां

संजय का फार्म हाउस काफी बड़ा है और इस फार्म हाउस में मुर्गियां खुले में ही रहती हैं। मुर्गियां जहां चाहें वहां धूम सकती है। संजय के फार्म हाउस में करीब चार सौ स्वर्णधारा और वनराजा नस्ल की मुर्गियां हैं। जो करीब 100 से ज्यादा अंडे हर रोज देती हैं।

संजय के अनुसार वो मुर्गियों का खासा ध्यान रखता है और प्रेस्टिसाइज, यूरिया और उससे उत्पादित की गई वस्तुओं का उपयोग नहीं करता हैं। वहीं ऑर्गेनिक अंडों को लोग खूब खरीद रहे हैं और लोग इन अंडो के लिए अधिक पैसे देने को भी तैयार होते हैं। उत्तम गुणवत्ता के अंडे बाजार में 6 गुना ज्यादा भाव पर आसानी से बिक जाते हैं।

Share