दिल्ली : नर्सरी एडमिशन की दौड़ शुरू और अभी तक 298 स्कूलों में मानदंडों पर कोई स्पष्टता नहीं

राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को नर्सरी में दाखिले की दौड़ डीडीए जमीन पर चल रहे करीब 300 स्कूलों के मानदंड के बारे में भ्रम के साथ शुरू हुई. दिल्ली सरकार ने इन 300 स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया पर रोक लगा दी है.

इन स्कूलों को लेकर जानकारी नहीं होने पर अभिभावकों ने अलग-अलग स्कूलों में जाकर जानकारी लेने की कोशिश की लेकिन उनके अधिकारियों ने उन्हें वापस भेज दिया. वहीं दूसरी ओर सरकार ने कहा कि इसके लिए मंजूरी जल्द प्राप्त होगी और अभिभावकों को घबराने की जरूरत नहीं है.

सरकार ने पिछले सप्ताह डीडीए और सरकारी जमीन पर संचालित 298 निजी स्कूलों को शहर प्रशासन द्वारा नए दिशानिर्देश अधिसूचित किये जाने तक आगामी शैक्षणिक सत्र के लिए नर्सरी प्रवेश प्रक्रिया पर रोक लगा दी थी.

उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, मैंने उपराज्यपाल से उनके शपथ ग्रहण समारोह में इस मुद्दे के बारे में बात की. मुझे आशा है कि हम एक या दो दिन में मंजूरी प्राप्त करेंगे और फिर इन स्कूलों में प्रवेश के लिए दिशानिर्देश भी जारी किये जाएंगे. इन स्कूलों में नये दिशानिर्देशों में आवेदक के आवास और स्कूल के बीच दूरी का मानदंड लागू करना शामिल है. इन स्कूलों को 75 प्रतिशत सीटें पास के इलाकों में रहने वाले छात्रों से भरना होगा. हालांकि आधिकारिक अधिसूचना का इंतजार है.

Gyan Dairy

सरकारी अधिकारियों ने दावा किया कि यह कदम स्कूलों को नर्सरी कक्षाओं में प्रवेश में एकतरफा फैसले से स्कूलों को रोकेगा.

प्रवेश प्रक्रिया ऑनलाइन है लेकिन अभिभावकों ने शेष 1400 निजी स्कूलों में दिशानिर्देशों, मानदंडों और प्रवेश प्रक्रिया के बारे में स्पष्ट जानकारी हासिल करने के लिए स्कूलों का दौरा किया.

Share