स्मार्टफोन से किशोरियों को यौन शिक्षा देना हुआ आसान, जानिए क्या है पूरा मामला…

न्यूयार्क: पारंपरिक तरीकों की जगह स्मार्टफोन से किशोरियों को सही तरीके से यौन शिक्षा दी सकती है। एक शोध से यह जानकारी मिली है। अमेरिका के ब्राउन यूनिवर्सिटी की शोधार्थी लिनाय एम. ब्रेब्यॉय का कहना है,”हमने पाया कि स्मार्टफोन एप्लिकेशन किशोरियों को यौन शिक्षा देने के लिए एक व्यवहार्य उपकरण है। पढ़ें: जानिये क्या है फीमेल कंडोम लगाने का सही तरीका

वास्तव में, हमारे भागीदारों ने बताया कि व्यापक यौन स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए एप्लिकेशन एक मूल्यवान संसाधन है।”

यह शोध जर्नल ऑफ पेडियाट्रिक एंड एडोलेसेंट गाइनेकॉलाजी में प्रकाशित किया गया है। ब्रेब्यॉय और उनके दल ने दो चरणों में किए गए इस शोध के लिए 12 से 17 साल की 39 लड़कियों को प्रतिभागी के रूप में शामिल किया था।

पहले चरण में 22 लड़कियों को यौन स्वास्थ्य संबंधी एक प्रश्नावली दी गई थी। वहीं, दूसरे चरण में 17 लड़कियों के स्मार्टफोन में गर्ल टॉक एप्किेशन डाला गया और दो हफ्तों बाद उन्हें यौन स्वास्थ्य संबंधी प्रश्नावली दी गई और इस एप्लिकेशन के इस्तेमाल से पहले और बाद में साक्षात्कार किया गया। पढ़ें: Sex के बिना भी मुमकिन है pregnancy, जानिए कैसे

शोधकर्ताओं ने बताया कि गर्ल टॉक एप्लीकेशन को लड़कियों ने सामान्यत: खाली समय जैसे साप्ताहांत में प्रयोग किया।

Gyan Dairy

ब्रेब्यॉय आगे कहते हैं, “गर्ल टॉक एप्लिकेशन इस्तेमाल करने से पहले करीब एक तिहाई लड़कियों को यौन स्वास्थ्य शिक्षा के बारे में जानकारी थी, लेकिन एप्लिकेशन के प्रयोग के बाद 94.1 फीसदी लड़कियों ने स्वीकार किया कि इस एप से उन्हें नई और विस्तृत जानकारी मिली है।”

पढ़ें: फीमेल कंडोम से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें आपको हैरान कर देंगी 

(यह सामग्री 18 + साल के लिए उपयुक्त है। अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से कम है तो इस पेज पर न आएं।)

Share