देश का सबसे खतरनाक किला, घूमने गई बारात हो गई थी लापता

नई दिल्ली। देश के प्राचीन किलों का इतिहास बड़ा ही रोचक है। ऐसा ही एक रहस्यमयी किला गढ़कुंडार है। मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में स्थित गढ़कुंडार गांव का नाम इसी प्रसिद्ध दुर्ग के नाम पर पड़ा है। यह किला उस काल की न केवल बेजोड़ शिल्पकला का नमूना है बल्कि उस खूनी प्रणय गाथा के अंत का गवाह भी है, जो विश्वासघात की नींव पर रची गई थी।

इस 5 मंजिला किले में 3 मंजिल ऊपर, जबकि 2 मंजिल बेसमेंट में बने है। किले के राजा मानसिंह की खूबसूरत बेटी राजकुमारी केसर दे ने करीब 100 नौकरानियों के साथ महल की छत से कूदकर अपनी जान दे दी। इतिहासकारों के मुताबिक 1300 ईस्वी में गढ़कुंडार किले पर बुंदेल राजाओं का शासन था।
मुगल बादशाह मोहम्मद बिन तुगलक गढ़कुंडार के राजा मान सिंह की बेटी केसर दे की खूबसूरती का कायल हो गया था। उसने उसका हाथ मांगा। राजा ने इनकार कर दिया तो वो बैलगाड़ी पर सवार होकर राजा के पास पहुंचा, जहां उसने राजकुमारी का चेहरा देखने की इच्छा जाहिर की। राजा ने इंकार कर दिया तो तुगलक ने गढ़कुंडार पर आक्रमण कर दिया। भयंकर नरसंहार हुआ। सेना को हारते देख राजकुमारी ने अपनी इज्जत बचाने के लिए किले से कूदकर जान दे दी। ये देख किले में मौजूद दूसरी करीब 100 नौकरानियों-बच्चों ने भी राजकुमारी के बाद किले से कूद गईं और मर गई।

जब गायब हो थी पूरी बारात
प्रचलित कहानियों के अनुसार, यहां काफी समय पहले पास के ही गांव से एक बारात भ्रमण हेतु आई थी। भ्रमण करते-करते बारात बेसमेंट में चली गई, जिसके तत्पश्चात बारात के सभी लोग रहस्यमयी तरीके से अचानक अदृश्य हो गए और उनका आज तक कुछ पता नहीं चल सका।
इस घटना के बाद तरह-तरह की कई और घटनाएं सामने आई थी, जिसके बाद से किले के नीचे जाने वाले सभी दरवाजों को बंद कर दिए गए।

Gyan Dairy

खजाने की खोज में गईं कई जानें
गढ़कुंडार किले में खजाने को तलाशने के चक्कर में बहुत लोगों जान जा चुकी हैं। गढ़कुंडार का किला बेहद रहस्यमयी है। कहा जाता है कि इसके बेसमेंट में कई रहस्य अभी भी मौजूद हैं। दो फ्लोर बेसमेंट को बंद कर दिया गया है। खजाने का रहस्य इसी में छिपा हुआ है। गढ़कुंडार बेहद संपन्न और पुरानी रियासत रही है। यहां के राजाओं के पास कभी भी सोना, हीरे, जवाहरात की कमी नहीं रही। कई विदेशी ताकतों ने खजाने को लूटा। स्थानीय चोर उचक्कों ने भी खजाने को तलाशने की कोशि‍श की। इस किले में इतना सोना-चांदी है कि भारत जैसा देश भी अमीर हो जाए। यहां चंदेलों, बुंदेलों, खंगारों का कब्जा रहा है। किले के नीचे दो मंजिला भवन है। इसी में खजाने का रहस्य छिपा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share