दुनिया का सबसे बड़ा ड्रग माफिया, महज खाना बनाने के लिए जला दिए 20 लाख डॉलर

नई दिल्ली। हमारे देश में इन दिनों बॉलीवुड की खबरें सुर्खियां बनी हुईं हैं। देश में कई ड्रग माफिया ये धंधा चला रहे हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही ड्रग माफिया के बारे में बता रहे हैं जिसके पास इतना पैसा था कि नोटों पर दीमक लग जाती थी। इस माफिया ने हजारों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। दुनिया के सबसे बड़े ड्रग्स माफिया का नाम पाब्लो एमिलियो एस्कोबार गैविरिया था। पाब्लो एस्कोबार को पूरी दुनिया में किंग ऑफ कोकेन के नाम से जाने है। पाब्लो के पास पैसों का अकूत भंडार था।

2 दिसंबर 1993 को पाब्लो एस्कोबार को कोलंबिया पुलिस ने मार गिराया गया था। लेकिन मौत से पहले उसने पुलिस और सैनिकों को खूब छकाया था। पाब्लो ने कोलंबिया में भीषण आतंक मचा रखा था। कार उड़ाना या किसी बड़े नेता की जान लेना उसके लिए मामूली बात हो गई थी। उसका सपना था कि वो कोलंबिया का राष्ट्रपति बने।

पाब्लो एमिलियो एस्कोबार गैविरिया एक कोलंबियाई ड्रग लॉर्ड था। कभी दुनिया का सबसे बड़ा अपराधी कहा जाने वाला पाब्लो एस्कोबार संभवतः कोकीन का अबतक का सबसे बड़ा तस्कर था। उसे विश्व इतिहास में सबसे अमीर और सबसे कामयाब अपराधी माना जाता है क्योंकि, वर्ष 1989 में, एस्कोबार को दुनिया का सातवां सबसे अमीर व्यक्ति घोषित किया था, जिसकी अनुमानित संपत्ति 25 बिलियन अमेरिकी डॉलर थी। उसके पास बेशुमार लक्जरी गाड़ियां और घर थे।

Gyan Dairy

1970 के दशक में पाब्लो कोकेन के अवैध कारोबार में आया था और माफिया के साथ मिलकर मेडेलिन कार्टेल बनाया था। पाब्लो एस्कोबार के ताकत का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उसने सरकार पर दबाव बनाकर अपने लिए खास जेल खुद ही तैयार कराई थी। उसने यह शर्त रखी थी कि जेल के कुछ किलोमीटर तक पुलिस नहीं आ सकती है।

पाब्लो के पास 800 से ज्यादा मकान थे। उसके पास 6500 वर्ग फीट का बंगला अमेरिका में था, जो फ्लोरिडा के मियामी बीच पर स्थित था। इतना ही नहीं उसने कैरिबियन में आइला ग्रांदे नाम का कोरल द्वीप खरीद लिया था। एक समय ऐसा था कि अमेरिका में सप्लाई होने वाले कोकीन के 80 फीसदी हिस्से पर पाब्लो का कंट्रोल था।
कुख्यात ड्रग तस्कर पाब्लो एस्कोबार ने पहाड़ में छुपकर करोड़ो अमेरिकी डॉलरों को जलाकर खाक कर दिया था। ये खुलासा पाब्लो एस्कोबार के बेटे जुयान पाब्लो एस्कोबार ने खुद किया है। जुयान ने अपना नाम बदलकर सेबस्टियन मारोकी रख लिया है। सेबेस्टियन ने खुलासा किया है कि उनके पिता ने अपनी बेटी को गर्माहट देने के लिए करोडों के डॉलरों को जला दिया था, क्योंकि उसकी बेटी मैनुएला को हाइपोथर्मिया की बीमारी थी। यही नहीं सेबेस्टियन का कहना है कि उनके पिता पाब्लो ने खाना पकाने के लिए 20 लाख डॉलर को जला दिया था।

Share