इस झील (Lake) में छिपा है अकूत खजाना, स्वयं नाग देवता करते हैं रक्षा

नई दिल्ली। सदियों से हमारा देश सोने की चिड़िया कहा जाता है। कभी मुस्लिम आक्रांताओं तो कभी अंग्रजों ने इसे जमकर लूटा। बावजूद इसके हमारी समृद्धि में विशेष कमी नहीं आई। आज हम आपको एक ऐसी झील (Lake) के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमें अरबों की दौलत समाई हुई है।

हिमाचल प्रदेश में एक ऐसी झील है जिसमे अरबों की दौलत छिपी हुई है । हालांकि इतना सारा खजाना होने के बावजूद भी आज तक इसे निकालने की किसी में हिम्मत नहीं हुई है। क्योंकि झील में दबे इस खजाने की रखवाली खुद नाग देवता करते हैं।

आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश से 60 किलोमीटर की दूरी पर रोहांडा के घने जंगलों में स्थित इस झील का नाम कमरुनाग (kamrunag lake) है। इसके बारे में बताया जाता है कि यहां एक बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है जो इस झील के किनारे ही है। मान्यता है कि जो भी भक्त मंदिर में दर्शन करने आते हैं, वो इस झील में सोने-चांदी के गहने और रुपये-पैसे डालते हैं। यह परंपरा सदियों से चली आ रही है।

Gyan Dairy

इस झील में पड़ा खजाना देवताओं का माना जाता है। मंदिर के पुजारी के अनुसार झील के अंदर मौजूद खजाने की रखवाली एक खतरनाक नाग करता है, जो भी उस खजाने को निकालने की कोशिश करता है उसे खतरनाक अंजाम भुगतना पड़ता है।

इसी कारण आज तक किसी की भी हिम्मत इसे निकालने की नहीं हुई। माना जाता है कि यह झील सीधे पाताल लोक तक जाती है इसलिए जो भी शख्स यहां मन्नत मांगता है उसकी सारी इच्छा पूरी होती है। मनोकामना के पूर्ण होने पर वहीं भक्त यहां दोबारा आकर झील में अपनी खुशी से सोना या चांदी के आभूषण डालते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share