जीवन में सिर्फ एक बार नहाती हैं ये महिलाएं,जानें खासियत

नई दिल्ली। दुनिया में बहुत सारी ऐसी परम्पराएं, जिनके बारे में जानकर आप दांतों तले उंगलियां दबा लेंगे। अफ्रीका प्रायद्वीप के नॉर्थ-वेस्ट नामीबिया के कुनैन प्रांत में रहने वाली हिम्बा जनजाति की महिलाएं जिंदगी में सिर्फ एक बार नहाती हैं। हिम्बा महिलाएं सिर्फ तब जब नहाती हैं जब उनकी शादी होती है। हिम्बा जनजाति में महिलाओं को पानी का इस्तेमाल करने की मनाही है। महिलाएं यहां कपड़े भी नहीं धो सकती हैं। आज हम आपको बताएंगे कि ये महिलाएं खुद को फ्रेश कैसे रखती हैं।

दरअसल, हिम्बा जनजाति की महिलाएं नहाने की जगह खास जड़ी-बूटियों को पानी में उबालकर उसकी भाप से अपने शरीर की सफाई करती हैं। इस भाप की खुशबू से इनकी बॉडी कभी ना नहाने के बाद भी फ्रेश लगती है। हिम्बा जनजाति की महिलाएं अपनी त्वचा को धूप से बचाने के लिए खास तरह के लोशन का इस्तेमाल करती हैं।

Gyan Dairy

यह लोशन जानवर की चर्बी और हेमाटाइट की धूल से तैयार किया जाता है। हेमाटाइट की धूल की वजह से उनके त्वचा का रंग लाल हो जाता है। ये खास लोशन उन्हें कीड़ों के काटने से भी बचाता है।

Share