इस शहर में सिर्फ 40 मिनट होती है रात, जानिये वजह

नई दिल्ली। दुनियाभर में कई ऐसी जगहें हैं जो अपने रहस्य के लिए मशहूर हैं। ऐसी ही एक जगह है नॉर्वे का शहर हेमरफेस्ट। इस खूबसूरत शहर में सिर्फ 40 मिनट की ही रात होती है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा, लेकिन यह सौ फीसदी सच है।

हेमरफेस्ट में सूरज रात 12 बजकर 43 मिनट पर छिपता है और महज चालीस मिनट के अंतराल पर सूर्योदय हो जाता है। रात करीब डेढ़ बजे ही चिड़िया चहचहाने लगती हैं।

हेमरफेस्ट में एक-दो दिन नहीं बल्कि ढाई महीने तक ऐसा होता है कि जब सूरज छिपता ही नहीं है। मई से जुलाई के बीच करीब 76 दिनों तक यहां सूरज नहीं डूबता। हेमरफेस्ट के इसी अजूबे के कारण नॉर्वे को ‘कंट्री ऑफ मिडनाइट सन’ भी कहा जाता है।

Gyan Dairy

हम सभी को पता है कि सूर्य अपनी जगह से नहीं हिलता और पृथ्वी 365 दिनों में उसका एक चक्कर पूरा करती है। इसके साथ ही पृथ्वी अपने अक्ष यानी धुरी पर 24 घंटे में एक चक्कर पूरा करती है, जिसके कारण दिन और रात होते हैं। पृथ्वी की धुरी के झुकाव के कारण दिन-रात एक समान नहीं रहते और कभी दिन बड़े और रातें छोटी होती हैं तो कभी दिन छोटे और रातें बड़ी होती हैं।

चक्कर लगाने के दौरान 66 डिग्री उत्तर और अक्षांश से 90 डिग्री उत्तनर अक्षांश तक का धरती का पूरा हिस्सा सूर्य की रोशनी में रहता है और हेमरफेस्ट इसी हिस्से में पड़ता है। इसी कारण यहां दिन ज्यामदा समय रहता है और रात कम समय के लिए होती है। अगर नॉर्वे जाने का मौका मिले तो मई से जुलाई में जाएं और इस अनोखी घटना को अनुभव करें। इन तमाम बातों के बीच बता दें कि नॉर्वे आर्कटिक सर्कल के अंदर आता हैऔर इसमें सबसे बड़ी खूबी इसकी प्राकतिक सुंदरता है। इस देश को जिंदगी में एक बार देखना तो बनता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share