इस वैज्ञानिक (Scientist) ने की थी ‘समय यात्रा’, 1943 से पहुंचे थे 1983 में

नई दिल्ली। आपने टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले लोकप्रिय धारावाहिक शक्तिमान में टाइम (Time travel) मशीन देखी होगी। इस मशीन में बैठकर कई साल पहले और कई साल आगे तक का सफर करते हुए दिखया गया था। हालांकि वैज्ञानिक (Scientist) इसे सिर्फ एक कल्पना ही मानते हैं। लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि दुनिया के एक वैज्ञानिक ने ऐसा कर दिखाया था।

अमेरिका में साल 1856 में जन्मे निकोला टेस्ला (Nikola Tesla) ने दुनिया के लिए कई अहम आविष्कार किए। जिससे लोगों को काफी फायदा मिला। इनमें इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स से लेकर कई दूसरी जरूरत की चीजें शामिल हैं। वे एक वैज्ञानिक होने के साथ सफल केनिकल, इलेक्ट्रिकल और फिजिकल इंजीनियर भी थे।

बताया जाता है कि, वे अचानक अपनी जगह से गायब हो जाया करते थे। उनके इन सभी कारनामों की वजह से लोग उन्हें रहस्यमयी मानते थे। निकोला टेस्ला ने दावा किया था कि वे टाइम ट्रैवल में सफल हुए हैं। उन्होंने अपने अनुभव को साझा करने के लिए एक किताब भी लिखी थी।

टेस्ला ने अपने इस हुनर का प्रयोग 4 अक्टूबर 1943 में एक लड़ाकू जहाज यूएसएस-एल्ड्रिज पर किया था। इस प्रयोग को फिलाडेल्फिया डॉकयार्ड पर किया गया। बताया जाता है कि जहाज को गायब कर नाजियों को चकमा देने के लिए जहाज के चारों तरफ कई हजार वोल्ट के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कॉइल लगाए गए थे। धीरे-धीरे उस जहाज पर लगाए हुए जनरेटर की मदद से बिजली की वोल्टेज बढ़ाई जाने लगी। जैसे ही बिजली साढ़े तीन मिलियन के पार पहुंची तो एक हरे रंग की रौशनी हुई और जहाज पूरी तरह से ‘अदृश्य’ हो गया। उसे वहां मौजूद रडार भी ट्रैक नहीं कर पाया।

कुछ लोगों का कहना है कि जहाज को बाद में वर्जीनिया में देखा गया। जहाज में मौजूद ज्यादातार क्रू-मेंबर्स की मौत हो चुकी थी। जबकि जो लोग ठीक थे उनकी दिमागी हालात खराब हो चुकी थी। जहाज में सफर करने वाले कुछ यात्रियों का दावा था कि जहाज साल 1943 में गायब हुआ था। जबकि वे साल 1983 के समय में पहुंच गए थे। तब दुनिया काफी डेवलप हो गई थी।

Gyan Dairy

टाइम ट्रैवल की इस गुत्थी को सुलझाने के सिलसिले में मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन ने भी एक थ्योरी दी थी। उन्होंने सन 1915 में ‘थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी’ में समय और गति के बीच के संबंध को समझाया गया था। निकोला टेस्ला ने भी ये दावा किया था कि उन्होंने एक ही समय में भूत, भविष्य और वर्तमान देखा है।

न्यूयॉर्क पुलिस रिकॉर्ड में भी कई ऐसी घटनाएं दर्ज हैं जिसके बारे में कुछ भी स्पष्टता से कह पाना मुश्किल है। साल 1950 में वॉल स्ट्रीट पर विक्टोरियन समय काल के बालों और कपड़ों वाला एक शख्स दिखाई दिया। वो कुछ परेशान था और सबको घूर-घूर कर देख रहा था। वो सड़क पर था और उसने सामने से आती गाड़ी को ऐसे घूर कर देखा जैसे पहली बार देखा हो। कुछ ही सेकेण्ड बाद इसी गाड़ी से टकराकर उसकी मौत हो गई।

इस व्यक्ति की जेब से पुलिस को 19वीं सदी में इस्तेमाल किये जाने वाले कुछ रुपए और 1876 का लिखा एक पत्र और बिजनेस कार्ड बरामद हुआ जिसपर उसका नाम रुडोल्फ फेंट्ज़ लिखा था। पुलिस रिकॉर्ड खंगालने और इस नाम का आदमी ढूंढने पर पता चला कि साल 1876 में इस नाम का शख्स रहस्यमयी परिस्थितियों में अपने घर से गायब हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share