700 साल पुराना शाप झेल रहा है ये गांव, ग्रामीण नहीं बनाते घर में दूसरी मंजिल

नई दिल्ली। हमारे देश में गांव के लोग अपनी मान्यताओं और रीति रिवाजों को बहुत मानते हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक गांव के बारे में बताने जा रहे हैं। ये गांव पिछले 700 सालों से शापित माना जाता है। इस गांव में एक भी घर ऐसा नहीं है जो दो मंजिला बना हो। इस वजह से पिछे एक कहानी बताई जाती है कि ये गांव शापित है। राजस्थान के चूरू जिले में स्थित सरदार शहर तहसील के उडसर गांव के बारे में हम बात कर रहे है। यहां के लोगों का मानना है कि ये गांव पिछले 700 साल से श्राप झेल रहा है।

ये है इतिहास

Gyan Dairy

इस गांव में 700 साल पहले गांव में भोमिया नाम का एक शख्स रहता था। एक बार इस गांव में चोर आ गए और गांव के पशुओं को चुका कर ले जाने लगे। इस से परेशान होकर भोमिया चोरों से भिड़ गया। सभी चोरों ने उसके साथ मारपीट की जिससे वो बुरी तरीके से जखमी हो गया। उसके बाद भागते भागते अपने ससुराल पंहुच गया और वहां जाकर दूसरी मंजिल पर छिप गया। जब चोर ससुराल आकर परिवार वालों से मारपीट करने लगे तो उन्होंने भोमिया के बारे में बता दिया की वो मकान की दूसरी मंजिर पर है। जिसके बाद लुटेरों ने उनका सिर धड़ से अलग कर दिया, लेकिन भोमिया अपना सिर हाथ में लिए हुए उनसे लड़ते रहा और और लड़ते-लड़ते अपने गांव की सीमा के पास पहुंच गया। वहां जाकर उसने अपने प्राण त्याग दिए और उसका धड़ उड्सर गांव में आ गिरा। जहां भोमिया का मंदिर बनाया गया। भोमिया की पत्नी ने गांव में श्राप दिया कि आज से घर पर कोई दूसरी मंजिल नही बनाएगा और इसके बाद वो सती हो गईं।

Share