इस कुएं को कहते हैं नागलोक का रास्ता, नहाने पर नागभय से मिलती है मुक्ति

नई दिल्ली। हमारे देश में इतने रहस्य छिपे हैं, जिनका वैज्ञानिक भी कोई हल नहीं खोज सके हैं। ऐसी ही एक जगह अनोखी जगह यूपी के वाराणसी में स्थित है। वाराणसी के नवापुरा नामक एक स्थान पर एक कुआं है, जिसके बारे में लोगों की मान्यता है कि इसकी गहराई पाताल और नागलोक तक जाती है। कारकोटक नाग तीर्थ के नाम से प्रसिद्ध इस कुएं की गहराई कितनी है इस बात की जानकारी किसी को भी नहीं। धर्मशास्त्रों के अनुसार इस कूप के दर्शन मात्र से ही नागदंश के भय से मुक्ति मिल जाती है।

करकोटक नाग तीर्थ के नाम से विख्यात इसी पवित्र स्थान पर शेषावतार (नागवंश) के महर्षि पतंजलि ने व्याकरणाचार्य पाणिनी के महाभाष्य की रचना की थी। मान्यता यह भी है की इस कूप का रास्ता सीधे नाग लोक को जाता है।

Gyan Dairy

इस कूंए की सबसे बड़ी मान्यता ये हैं की इस कूए में स्नान व पूजा मात्र से ही सारे पापों का नाश हो जाता है। कूए में स्नान मात्र से ही नाग दोष से मुक्ति मिल जाती है, ऐसी मान्यता है। पूरे विश्व में काल सर्प दोष की सिर्फ तीन जगह ही पूजा होती हैं उसमे से ये कुंड प्रधान कुंड हैं।

Share