मेक्सिको में महज एक घंटे के अंदर बन गए थे तीन राष्ट्रपति, जानें वजह

नई दिल्ली। हर देश में अपने अलग शासन व्यवस्था होती है। उसी के अनुरूप वहां पर सरकारी काम होता है। राष्ट्रपति देश का मुखिया माना जाता है। संविधान में तय नियमों अनुसार राष्ट्रपति का चुनाव एवं कार्यकाल की अवधि होती है। क्या आपने कभी देखा है कि एक घंटे के अंदर कई राष्ट्रपति बने हो। लेकिन ये हुआ था उत्तरी अमेरिका में बसे मेक्सिको देश में, यहां महज एक घंटे के अंदर कुछ ऐसा हुआ था कि तीन-तीन राष्ट्रपति बन गए थे। इस देश को दुनिया का 14वां सबसे बड़ा राष्ट्र माना जाता है। साथ ही इसे दुनिया के सबसे खूबसूरत देशों में से एक भी माना जाता है।

मेक्सिको की यह घटना आज से 107 साल पहले की है यानी 1913 की। उस समय मेक्सिको के राष्ट्रपति थे फ्रांसिस्को आई मैडेरो। 19 फरवरी के दिन उनके राष्ट्रपति पद से हटने के एक घंटे के अंदर ही पेड्रो लस्कुरिन राष्ट्रपति बने, लेकिन उन्होंने कुछ ही मिनटों में अपने पद से इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद विक्टोरियानो हुएर्टा राष्ट्रपति बने। पेड्रो लस्कुरिन महज 26 मिनट के लिए राष्ट्रपति बने थे। यह एक विश्व रिकॉर्ड है।

अब आइए जानते हैं मेक्सिको के बारे में कुछ खास और रोचक बातें। आपको शायद ही यह पता हो कि दुनिया का सबसे पुराना पेड़ इसी देश में है, जिसका नाम है मॉन्टेजूमा साइप्रस। यह पेड़ करीब 2000 साल पुराना है, जिसकी लंबाई करीब 40 फीट है। दुनिया का सबसे छोटा ज्वालामुखी भी मेक्सिको में ही है, जिसका नाम क्यूस्कोमेट है। यह ज्वालामुखी प्यूबला शहर में स्थित है। यह 13 फीट लंबा और 23 मीटर चौड़ा है। यहां काफी संख्या में लोग घूमने और ज्वालामुखी को करीब से देखने के लिए आते हैं।

Gyan Dairy

इसी देश में एक प्राचीन पिरामिड भी है, जिसे चिचेन इत्जा के नाम से जाना जाता है। इस दुनिया के सात अजूबों में शामिल किया गया है। माना जाता है कि चिचेन इत्जा पिरामिड को माया सभ्यता के लोगों ने बनाया होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share