स्टेशन के बीचों बीच खड़ा है ये पेड़, काटने की कोशिश पर हो जाती है मौत

दुनिया में आज भी कई ऐसी रहस्यमयी चीजें मौजूद हैं, जिनकी सच्चाई पर से वैज्ञानिक तक पर्दा नहीं उठा पाए है। ऐसे कई मामले दुनियाभर में देखने को मिलते रहते है। एक ऐसा ही मामला जापान में सामने आया हैं। जापान के ओसाका में एक ऐसा पेड़ है, जो करीबन सात सौ साल पुराना है। इस पेड़ के बारे में लोगों की अलग-अलग मान्याताएं है। इस पेड़ को कई बार काटने की भी कोशिश भी की गई।

लेकिन उसमें सफलता नहीं मिल सकी। दरअसल, जब भी इस पेड़ को काटने का प्रयास किया गया, हर बार कोई न कोई ऐसा दुर्घटना हुई, जिससे लोग हैरान हो गए।

यहां के स्थानीय लोगों की माने तो ओसाका के कायाशिया स्टेशन पर स्थित कपूर का यह विशाल पेड़ सदियों पुराना है। सन् 1910 में यहां स्टेशन बनाया गया था। लेकिन आबादी बढऩे के कारण इस स्टेशन का भी विस्तार करने की मांग उठने लगी। ऐसे में सरकार ने 1972 में इसके विस्तार की मंजूरी दे दी। अब स्टेशन के विस्तार के लिए इस पेड़ को काटना जरूरी था। लेकिन हैरानी बात यह है कि जिसने भी इस पेड़ को काटने की कोशिश की, वो किसी न किसी दुर्घटना का शिकार हो गया, उसकी मौत हो गई।

Gyan Dairy

एक बार तो किसी शख्स ने इसकी एक डाली काट दी, उसी शाम उसे काफी तेज बुखार हो गया। इस पेड़ की जड़ों से कई लोगों ने धुआं भी निकलता देखा है। इसके बाद से ही स्थानीय लोगों ने इसके काटने का विरोध शुरू कर दिया और पेड़ की दैविक शक्तियों की कहानी काफी तेजी से चारों और फैल गई।

आखिरकार अधिकारियों ने स्टेशन के विस्तार में आ रहे इस पेड़ को भूलकर मजबूरी में अपने डिजाइन में बदलाव किए और पेड़ को अपने जगह पर छोड़कर स्टेशन का विस्तार किया। लेकिन इस पेड़ के साथ ऐसी कौन सी शक्ति जुड़ी हुई है, रहस्य पर से आज भी कोई पर्दा नहीं उठा सका।

Share