विदुर नीति: धनवान बनने के लिए अपनाएं चीजें, कभी नहीं होगी पैसे की कमी

लखनऊ। महाभारत के उद्योगपर्व में महाराज धृतराष्ट्र और महात्मा विदुर के बीच संवाद हुआ है। इस संवाद में महात्मा विदुर ने जो बातें धृतराष्ट्र को बताई थीं उन्हें ही विदुर नीति कहा जाता है। विदुर नीति में बताई गई बातें हजारों साल बाद आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं। इनका अनुसरण करके आज भी हम कई परेशानियों से बच सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे महात्मा विदुर की एक नीति के बारे में।

महात्मा विदुर ने कहा था कि अगर व्यक्ति चाहता है कि उसके पास धन का भंडार हो तो उसे जल्दबाजी में बिल्कुल नहीं रहना चाहिए। ऐसे व्यक्ति को हर कार्य बड़े ही धैर्य और शांत मन से करना चाहिए। क्योंकि एकाग्र मन से किये गए कार्यों में गलतियां कम होने की संभावना रहती है।

विदुर के अनुसार अमीर बनने की चाह रखने वाले व्यक्ति को दफ्तर में अपने सहकर्मियों के काम से ईर्ष्या नहीं करनी चाहिए। ऐसा व्यक्ति अपनी तरक्की की बजाय केवल दूसरों के काम पर ध्यान देता रहता है। और अपनी तरक्की के मार्ग में अवरोध उत्तपन्न कर लेता है। इसलिए केवल अपने काम पर ही फोकस करें।

Gyan Dairy

विदुर के अनुसार यदि आपको अमीर बनना है तो आपका निडर होना आवश्यक है, क्योंकि अगर आप हर बात पर डरेंगे तो कोई भी महत्वपूर्ण फैसला कैसे लेंगे। उन्होंने कहा था कि धन की चाह रखने वालों को कोई भी जोखिम या कठिन फैसला लेने से कभी नहीं डरना चाहिए। इसके अलावा अपने धन का सोच-समझकर निवेश करना चाहिए।

विदुर नीति के अनुसार अमीर बनने की चाह रखने वाले लोगों को हमेशा आलस्य का त्याग करना चाहिए। आलस्यवान व्यक्ति कभी भी अमीर नहीं बन सकता। आलसी लोगों के पास लक्ष्मी कभी नहीं टिकती। इसलिए अमीर बनने के लिए आलस का परित्याग करना बेहद जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share