कंप्यूटर माउस का नाम क्‍यों पड़ा “माउस” ?

कंप्यूटर माउस “Computer Mouse” कंप्‍यूटर पर आपको काम करने की आजादी देता है, आप कहीं भी क्लिक कर किसी भी प्रोग्राम या गेम को माउस (Mouse) से अासानी से चला सकते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते हैं इस कंप्यूटर माउस का नाम क्‍यों पड़ा “माउस” ? Why Is the Computer Mouse Called a “Mouse” –

कंप्यूटर माउस का नाम क्‍यों पड़ा “माउस” ? where did the computer mouse get its name (why is it called a mouse)

सबसे पहले जानते है कि माउस का आविष्कार (Invention) किसने किया, इनका नाम था डगलस कार्ल एंजेलबर्ट अथवा डगलस कार्ल एंगेल्बर्ट (Douglas Engelbart), डग के द्वारा माउस का अविष्‍कार 1960 में किया गया था और आपको जानकार आश्‍चर्य होगा कि पहला कंप्यूटर माउस लकडी का बना हुआ था, जिसमें धातु के दो पहिये लगे हुए थे। यह उस समय की बात है जब कम्‍प्‍यूटर की प्रथम पीढी चल रही थी और कम्‍प्‍यूटर का आकार किसी कमरे के बराबर होता था, अब बात करते हैं कि कंप्यूटर माउस का नाम क्‍यों पड़ा “माउस” ?

Gyan Dairy

असल में कंप्यूटर माउस एक इनपुट डिवाइस है, इसका असली नाम पॉइंटर डिवाइस (Pointer Device) था, लेकिन लैब में जब computer mice तैयार हुआ और जब इसके डिजायनरों ने इसे गौर सेे देेखा तो यह लकडी की चौकार की डिवाइस थी, जिसमें पीछे एक लम्‍बा सा तार लगा हुआ था, जो देखने में बिलकुल चूहे की पूंंछ तरह लग रहा था अचानक से उन्‍होनें इसे “माउस” कहकर पुकारा और आज-तक हम इसी नाम से कंप्यूटर माउस को जानते हैं।

लेकिन बाजार में जब वायरलेस माउस “Wireless Mouse” भी आने लगे हैं तो विचार आता है कि इस बिना तार वाले पॉइंटर डिवाइस (Pointer Device) को क्‍या नाम दिया जाता ?

Share